ताज़ा खबर
 

USA: काम संभालते ही प्रेसीडेंट बाइडेन ने दिखाई तेजी, पूर्व राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप की कई अहम नीतियों को पलट दिया

बाइडेन का पहला कार्यकारी आदेश 100 दिन मास्क लगाने वाला है, जिसमें देश की जनता से 100 दिनों तक मास्क लगाने की अपील की गई है।

अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने के बाद संबोधित करते जो बाइडेन। (फोटो- एएनआई)

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पदभार संभालते ही तेजी दिखाते हुए 15 कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर किए, जिनमें से अधिकांश पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अहम विदेश नीतियों और राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित कुछ फैसलों को पलटने वाले हैं। इन कार्यकारी आदेशों में पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते में पुन: शामिल होने, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) से अमेरिका को बाहर होने से रोकने, मुसलिम देशों से लोगों की यात्रा पर प्रतिबंध को हटाने और मेक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण को तत्काल रोकना आदि शामिल हैं।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पदभार संभालने के बाद पहले दिन कांग्रेस को एक समग्र आव्रजन विधेयक भेजा। इस विधेयक में आव्रजन से जुड़ी व्यवस्था में प्रमुख संशोधन किए जाने का प्रस्ताव है। ‘यूएस सिटीजनशिप एक्ट आॅफ 2021’ में आव्रजन प्रणाली को उदार बनाया गया है।

बाइडेन ने बुधवार को कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर के बाद वाइट हाउस के ओवल आॅफिस में संवाददाताओं से कहा, ‘मैं आज के कार्यकारी कदमों से गौरवान्वित हूं। मैंने अमेरिका की जनता से जो वादा किया किया था, उन्हें मैं पूरा करने जा रहा हूं, अभी लंबी यात्रा करनी है। ये बस कार्यकारी आदेश हैं। वे जरूरी हैं, लेकिन जो हम करने वाले हैं उनके लिए हमें विधेयकों की जरूरत पड़ेगी।’ राष्ट्रपति ने कहा कि आने वाले दिनों में वे और कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर करने वाले हैं।

बाइडेन का पहला कार्यकारी आदेश 100 दिन मास्क लगाने वाला है, जिसमें देश की जनता से 100 दिनों तक मास्क लगाने की अपील की गई है। वाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा कि बाइडेन ने 15 कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर किए हैं। उन्होंने संवाददाताओं को इन आदेशों से पड़ने वाले प्रभावों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

इससे पहले बाइडेन ने पद भार संभालने के बाद पहले दिन कांग्रेस को एक समग्र आव्रजन विधेयक भेजा। इस विधेयक में आव्रजन से जुड़ी व्यवस्था में प्रमुख संशोधन किए जाने का प्रस्ताव है। ‘यूएस सिटीजनशिप एक्ट आफ 2021’ में आव्रजन प्रणाली को उदार बनाया गया है।

इस विधेयक के जरिए हजारों की संख्या में अप्रवासियों और अन्य समूहों को नागरिकता मिलने का रास्ता साफ होगा और अमेरिका के बाहर ग्रीन कार्ड के लिए परिवार के सदस्यों को कम समय तक इंतजार करना पड़ेगा। इस विधेयक में आव्रजन प्रणाली के आधुनिकीकरण और रोजगार आधारित ग्रीन कार्ड के लिए प्रति देश तय की गई सीमा को खत्म करने का भी इसमें प्रावधान किया गया है। इससे अमेरिका में हजारों भारतीय आइटी पेशवरों को लाभ होगा।

उन्होंने अमेरिका के विश्व स्वास्थ्य संगठन में शामिल होने के आदेश पर हस्ताक्षर किए। इसका संयुक्त राष्ट्र ने स्वागत किया है। पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल संयुक्त राष्ट्र की इस स्वास्थ्य एजंसी पर कोरोना विषाणु से निपटने में अक्षम होने और चीन के प्रभाव में आने का आरोप लगाते हुए अमेरिका को उससे अलग करने की घोषणा की थी। ट्रंप ने पिछले साल अप्रैल में डब्लूएचओ को दिए जाने वाले कोष पर भी रोक लगा दी थी और कहा था कि इसे वास्तव में चीन द्वारा नियंत्रित किया जा रहा है।

Next Stories
1 मां के भरोसे ने मुझे पहुंचाया इस मुकाम पर, अमेरिका की नवनियुक्त उपराष्ट्रपति कमला हैरिस बोलीं- वे सदा दिल में रहेंगी
2 उइगर महिलाओं को लेकर ट्वीट, यूजर्स बोले- चीन को अपनी जुल्म वाली नीतियों के प्रचार का मंच दे रहा ट्विटर, अकाउंट सस्पेंड
3 कड़ी सुरक्षा में डेमोक्रेटिक नेता जो बाइडन ने ली अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति पद की शपथ, समारोह में नहीं आए डोनाल्ड ट्रंप
यह पढ़ा क्या?
X