ताज़ा खबर
 

अमेरिका ने ‘साउथ चाइना सी’ में भेजा जंगी जहाज, तिलमिलाए चीन ने दी युद्ध की धमकी

चीन ने अमेरिका को चेतावनी दी है कि अगर वह इस प्रकार से उकसावे की कार्रवाई करेगा तो परिणाम गंभीर होंगे। 'साउथ चाइना सी' के विवादित क्षेत्र में चीन कृत्रिम द्वीप बना रहा है।

China, United States, Navy destroyer, South China Sea, Chinese Foreign Ministry, Beijing, U.S. Warship, India, china-pakistan, disputed Islands, Subi Reef, Chinese warship, United States ambassador‘साउथ चाइना सी’ में तैनात अमेरिकी युद्धपोत ‘यूएसएस लासेन’।

पिछले महीने पाकिस्‍तान के साथ मिलकर राजस्‍थान से लगी सीमा पर जबर्दस्‍त सैन्‍य अभ्‍यास कर भारत को आंखें दिखाने वाला चीन अब तिलमिला रहा है। ‘साउथ चाइना सी’ में अमेरिकी जंगी जहाज “यूएसएस लासेन” की मौजूदगी से चीन आगबबूला हो गया है। चीन ने अमेरिका को चेतावनी दी है कि अगर वह इस प्रकार से उकसावे की कार्रवाई करेगा तो परिणाम गंभीर होंगे।

See more at:Read Also: अमेरिका ने कहा, गुरुदासपुर हमले से जुड़े पाकिस्‍तान के तार, ऐसा ही चलता रहा तो भारत कर देगा हमला

‘साउथ चाइना सी’ के विवादित क्षेत्र में चीन कृत्रिम द्वीप बना रहा है। इसे लेकर वियतनाम और मलेशिया समेत कई देशों के साथ उसका तनाव चल रहा है, लेकिन चीन इसका निर्माण रोक नहीं रहा है। सीधे शब्‍दों में कहें तो अमेरिका ने चीन की दुखती रग पर हाथ रख दिया है। दूसरी ओर अमेरिका ने भी कड़े तेवर अख्तियार कर लिए हैं, उसका कहना है कि वह विवादित क्षेत्र में यूएस नेवी पी.8, सर्विलांस प्लेन और संभवतः पी.3 सर्विलांस प्लेन की भी तैनाती करेगा। अमेरिका का कहना है कि वह ‘साउथ चाइना सी’ के पूरे विवादित क्षेत्र की निगरानी करेगा।

अमेरिकी जंगी जहाज इसी 12 समुद्री मील के दायरे के निकट पहुंच गया है और वह घंटों तक तैनात रहेगा। अमरीका के एक रक्षा अधिकारी ने कहा कि युद्धपोत ने आज सुबह सुबी के पास से यह यात्रा शुरू की। यह युद्धपोत गाइडेड मिसाइलों को तबाह रखने की ताकत रखता है। अमरीकी डिफेंस अधिकारियों का कहना है कि इससे युद्धपोत के अलावा यूएस नेवी पी.8, सर्विलांस प्लेन और संभवतः पी.3 सर्विलांस प्लेन भी भेजे जाएंगे। ये सभी विवादित इलाके की निगरानी करेंगे।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ल्‍यू कांग ने कहा कि अमेरिकी जंगी जहाज हमारे कृत्रिम द्वीप के बेहद करीब आ गया था। उन्‍होंने वॉशिंगटन को धमकी देते हुए कहा कि चीन ऐसी किसी भी कार्रवाई को बर्दाश्‍त नहीं करेगा। ‘साउथ चाइना सी’ एनर्जी रिसोर्सेस से भरपूर है। इस क्षेत्र में हर साल करीब 7 ट्रिलियन डॉलर का बिजनेस किया जाता है। यही कारण है कि चीन के साथ वियतनाम, मलेशिया, इंडोनेशिया, ताइवान और ब्रुनेई भी साउथ चाइना सी पर अपना-अपना हक जताते हैं।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, गूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Next Stories
1 भूकंप ने मचाई तबाही: पाक में 228 और अफगानिस्तान में 63 लोगों की मौत
2 अफ़ग़ानिस्तान में शक्तिशाली भूकंप से 31 की मौत, सैकड़ों घायल
3 पाकिस्तान में 7.5 तीव्रता का भूकंप, 132 की मौत, 1300 घायल
ये पढ़ा क्या?
X