ताज़ा खबर
 

बराक ओबामा 50 लाख अवैध प्रवासियों को दिया वैध दर्जा

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कांग्रेस को दरकिनार करते हुए आज व्यापक आव्रजन सुधारों की घोषणा की, जो कि 50 लाख अवैध कामगारों को निर्वासन से बचाएंगे । इन सुधारों से उन हजारों भारतीय तकनीकविदों को भी लाभ मिल सकता है, जो कानूनी तरीके से स्थायी दर्जा हासिल करने के इच्छुक हैं। ओबामा ने इसका […]

Author November 21, 2014 5:41 PM

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कांग्रेस को दरकिनार करते हुए आज व्यापक आव्रजन सुधारों की घोषणा की, जो कि 50 लाख अवैध कामगारों को निर्वासन से बचाएंगे । इन सुधारों से उन हजारों भारतीय तकनीकविदों को भी लाभ मिल सकता है, जो कानूनी तरीके से स्थायी दर्जा हासिल करने के इच्छुक हैं।

ओबामा ने इसका विरोध करने वाले पक्षों द्वारा लगाए जा रहे उन आरोपों को खारिज कर दिया कि वह बिना वैध दस्तावेज वाले प्रवासियों को आसानी से बच निकलने दे रहे हैं। उन्होंने प्राइम-टाईम में प्रसारित होने वाले संबोधन में चेतावनी दी कि वह सीमा सुरक्षा को मजबूत करेंगे और अनाधिकृत बाहरी लोगों के अमेरिका में प्रवेश को और भी मुश्किल बना देंगे।

ऐसा माना जा रहा है कि ओबामा द्वारा उनकी कार्यकारी शक्तियों के इस्तेमाल के जरिए उठाया गया यह कदम आव्रजन के मुद्दे पर अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा उठाए गए बड़े कदमों में से एक है। ऐसी भी उम्मीद है कि इससे पर्याप्त संख्या में उन भारतीय तकनीकविदों को मदद मिलेगी, जिन्हें वैध स्थायी दर्जा :एलपीआर: या ग्रीन कार्ड हासिल करने के लिए एच-1बी वीजा की परेशानी भरी और दुखदायी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है।

ओबामा ने अपने इस एकपक्षीय कदम को ‘‘सामान्य समझ, बीच के रास्ते वाला रूख’’ बताया, जो कि कानून का उल्लंघन कर रहे प्रवासियों को ‘‘बाहर आने और कानून के अनुरूप चलने’’ में मदद करेगा।

ओबामा ने कहा कि देश के 1.1 करोड़ से ज्यादा अवैध प्रवासियों को निर्वासित करना ‘‘असंभव भी होगा और यह हमारी मूल प्रकृति के विपरीत भी होगा।’’

ओबामा की यह योजना अमेरिकी नागरिकों एवं कानूनी तौर पर स्थायी निवासियों के माता-पिता को देश में बिना निर्वासन के खतरे के अस्थायी तौर पर रहने देने की है। ओबामा द्वारा घोषित ये सुधार उन लोगों के लिए लागू होंगे, जो पिछले पांच सालों से अमेरिका में हैं।

इस कदम से उन कुशल कामगारों एवं उनके जीवनसाथियों को काम करने का अधिकार मिलता है, जो फिलहाल वैध स्थायी दर्जा :एलपीआर: मिलने का इंतजार कर रहे हैं।

व्हाईट हाउस की तथ्यात्मक रिपोर्ट के अनुसार, मौजूदा व्यवस्था के तहत जिन कर्मचारियों के एलपीआर आवेदनों को मंजूरी मिल जाती है, उन्हें वीजा उपलब्ध होने तक कई साल के लिए इंतजार करना पड़ता है।

ओबामा ने कहा, ‘‘सबसे पहले, हम हमारे कानून प्रवर्तन कर्मचारियों के लिए अतिरिक्त संसाधनों के साथ सीमा पर प्रगति की दिशा में काम करेंगे ताकि वे अवैध ढंग से सीमा में होने वाले प्रवेश को रोक सकें और सीमा में घुस आने वाले लोगों की वापसी तेज कर सकें।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं उच्च कौशलवान प्रवासियों, स्नातकों और उद्यमियों के लिए यहां रहना और हमारी अर्थव्यवस्था में योगदान देना आसान एवं तीव्र बनाऊंगा। उद्योग जगत के बहुत से नेतृत्वकर्ताओं द्वारा ऐसा प्रस्ताव दिया गया है। हम बिना वैध दस्तावेज के हमारे देश में रह रहे लाखों प्रवासियों के मुद्दे से जिम्मेदार ढंग से निपटने की दिशा में भी कदम उठाएंगे।’’

 

 

Next Stories
1 61 भारतीय मछुआरे पाकिस्तान में गिरफ्तार
2 2014 के सर्वश्रेष्ठ आविष्कारों में शामिल हुआ भारत का ‘मंगलयान’
3 बोले नवाज शरीफ, कश्मीरी नेताओं से सलाह के बाद ही भारत से होगी बातचीत
यह पढ़ा क्या?
X