barack obama Gift for Cuba, finish wet foot dry foot policy - Jansatta
ताज़ा खबर
 

जाते-जाते ओबामा ने खत्म की क्यूबा के लिए ‘वेट फूट, ड्राई फूट’ नीति

‘वेट फूट, ड्राई फूट’ नीति अमेरिकी जमीन पर पहुंचने वाले क्यूबाई नागरिकों को देश में रहने की अनुमति देती थी।

Author वॉशिंगटन | January 13, 2017 3:51 PM
वॉशिंगटन में द व्हाइट हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा। (REUTERS/Jonathan Ernst/14 Nov, 2016/File)

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिकी जमीन पर आने वाले क्यूबाई प्रवासियों को एक वर्ष बाद कानूनी स्थायी निवासी बनने की अनुमति देने वाली दो दशक पुरानी ‘वेट फूट, ड्राई फूट’ नीति को खत्म कर दिया है। यह कदम ओबामा प्रशासन के आखिरी दिनों में आया है। कभी अमेरिका के दुश्मन रहे क्यूबा के साथ संबंध सामान्य करने की दिशा में इसे महत्वपूर्ण कदम बताया जा रहा है। ओबामा ने गुरुवार (12 जनवरी) को एक बयान में कहा, ‘डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी ‘वेट फूट, ड्राई फूट’ की तथाकथित नीति को खत्म कर रहा है जिसे 20 साल पहले लागू किया गया था और इसे एक अलग दौर के लिए तैयार किया गया था।’ उन्होंने कहा कि अमेरिका क्यूबा के साथ संबंध सामान्य करने की दिशा में और अपनी आव्रजन नीति को अधिक स्थिर बनाने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठा रहा है।

ओबामा ने कहा, ‘यह तत्काल प्रभावी होगी। अब क्यूबा के जो भी नागरिक गैर कानूनी तरीके से अमेरिका में प्रवेश करने की कोशिश करते हैं और मानवीय राहत पाने के योग्य नहीं हैं, उन्हें अमेरिकी कानून एवं प्रवर्तन प्राथमिकताओं के अनुरूप निकाल दिया जाएगा।’ उन्होंने कहा, ‘यह कदम उठाकर हम क्यूबा के प्रवासियों के साथ भी उसी तरह का बर्ताव कर रहे हैं जो हम अन्य देशों के प्रवासियों के साथ करते हैं।’ ‘वेट फूट, ड्राई फूट’ नीति अमेरिकी जमीन पर पहुंचने वाले क्यूबाई नागरिकों को देश में रहने की अनुमति देती थी। समुद्र में पकड़े गए नागरिकों को क्यूबा वापस भेज दिया जाता था। ओबामा ने कहा, ‘नीति में इस बदलाव के जवाब में क्यूबा सरकार निकलने का आदेश पाने वाले क्यूबाई नागरिकों को भी उसी तरह स्वीकार करने पर सहमत हो गई है, जिस तरह वह समुद्र में रोके गए प्रवासियों की वापसी को स्वीकार करती रही है।’

VIDEO: बराक ओबामा बोले- ट्रंप का मिजाज व्‍हाइट हाउस में उनके काम नहीं आएगा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App