ताज़ा खबर
 

हसीना ने आइएस का दावा खारिज किया, बांग्लादेश में विदेशियों की सुरक्षा बढ़ाई

शेख हसीना ने एक सप्ताह में दो विदेशियों की हत्या के इस्लामिक स्टेट के दावे को खारिज करते हुए रविवार को कहा कि विपक्षी बीएनपी-जमात गठबंधन ने...

Author ढाका | October 5, 2015 8:59 AM
बांग्लादेश के रंगपुर जिले के माहीगंज गांव में उस जगह पहुंचे सुरक्षा बल जहां आइएस के हमलावरों ने जापानी नागिरक की हत्या कर दी थी। (एपी फोटो)

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने एक सप्ताह में दो विदेशियों की हत्या के इस्लामिक स्टेट के दावे को खारिज करते हुए रविवार को कहा कि विपक्षी बीएनपी-जमात गठबंधन ने सरकार की छवि खराब करने के लिए उन्हें मरवा डाला। जापान के 66 साल के एक नागरिक की नकाबपोश बंदूकधारियों द्वारा गोली मारकर उसकी जान लेने के एक दिन बाद अधिकारियों ने विदेशी राजनयिकों की सुरक्षा कड़ी कर दी और अपराधियों को न्याय के कठघरे में जल्द से जल्द लाने की अमेरिका और यूरोपीय संघ की मांगों के बीच ढाका में राजनयिक जोन की सुरक्षा के लिए भारी हथियारबंद पुलिस अधिकारियों को तैनात किया है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 70वें सत्र में भाग लेकर न्यूयॉर्क से लौटने के बाद हसीना ने राजधानी में अपने सरकारी आवास गणभवन में संवाददाताओं से कहा, ‘हमें अभी तक उसकी (आइएसआइएस की) किसी तरह की संलिप्तता का पता नहीं चला है। हमें जांच करनी होगी।’ एक जापानी और एक इतालवी नागरिक की हत्या की वारदातों को साफ तौर पर सुनियोजित और राजनीति से प्रेरित बताते हुए उन्होंने कहा कि यह उनकी सरकार की छवि को धूमिल करने की साजिश का हिस्सा है।

हसीना ने कहा, ‘इन जघन्य हत्याओं से हमारी सभी उपलब्धियों को नजरअंदाज करने की कोई वजह नहीं है लेकिन प्रयास ऐसे ही किए जा रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से बीएनपी-जमात ने बांग्लादेश की उपलब्धियों को ढंकने के प्रयास में इन हत्याओं को कराया है। उन्होंने कहा कि विदेशियों की हत्या ऐसे समय में हुई है जब युद्ध अपराधों पर मुकदमे चल रहे हैं। युद्ध अपराधों के मुकदमों में जमात के शीर्ष नेता शामिल हैं जो 1971 में पाकिस्तान से बांग्लादेश की आजादी के खिलाफ थे। कुछ जमात नेताओं को पहले ही मौत की सजा दी जा चुकी है।

हसीना ने कहा, ‘हम कार्रवाई करेंगे और दोषियों का पता लगाएंगे। लेकिन अगर हम हत्याओं के चलते अपनी उपलब्धियों को नजरअंदाज करने लगे तो बीएनपी-जमात की साजिश कामयाब हो जाएगी।’ उत्तरी रंगपुर शहर में शनिवार को एक रिक्शे पर सवार होकर एक खेत की तरफ जा रहे 66 साल के होसी कोनियो को अज्ञात हमलावरों ने सीने, कंधे और हाथ में गोली मार दीं। उसकी तत्काल मौत हो गई। आइएस ने अरबी भाषा में बयान जारी कर कोनियो पर हमले की जिम्मेदारी ली।

इस घटना से पांच दिन पहले 50 साल के इतालवी कर्मी सेसारे तवेला को मोटरसाइकिल पर सवार आतंकवादियों ने ढाका के राजनयिक इलाके में गोली मार दी थी जिससे उसकी मौत हो गई। पिछले सप्ताह घटी इस घटना की जिम्मेदारी भी आइएस ने ली थी। हसीना ने कहा, ‘हमें कोई सुराग नहीं मिला है। अगर कोई जिम्मेदारी लेता है तो हम इसे स्वीकार क्यों करेंगे?’ उन्होंने कहा, ‘जब तक हमें जांच से कुछ पता नहीं चलता, मुझे नहीं लगता कि हमें इस बात को कबूल करना चाहिए।’ हसीना के मुताबिक खुफिया एजंसियां इस पर काम कर रहीं हैं।

इस बीच बांग्लादेश में एक सप्ताह के भीतर दो विदेशी नागरिकों की हत्या से चिंतित, अमेरिका और यूरोपीय संघ ने रविवार को सरकार से कहा है कि वह जापानी नागरिक की हत्या के मामले की जांच करे और दोषियों को तुरंत न्याय की जद में लाए। बांग्लादेश में अमेरिकी राजदूत, मारसिया बेर्निकैट ने एक बयान में कहा कि वह रंगपुर में हुई जापानी नागरिक होशी कुनियो की हत्या से शोकाकुल हैं।

‘बीडीन्यूज डॉट कॉम’ के अनुसार, बेर्निकैट ने कहा, ‘मैं बांग्लादेश सरकार से इस अपराध की सभी पहलूओं से जांच करने और दोषियों को जितनी जल्दी संभव हो न्याय की जद में लाने का अनुरोध करती हूं।’ ढाका के गुलशन राजनयिक जोन में इतालवी कार्यकर्ता सेसारे तावेला (50) की हत्या के महज पांच दिन बाद 66 वर्षीय जापानी नागरिक कुनियो की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस्लामिक स्टेट आतंकवादी संगठन ने दोनों हत्याओं की जिम्मेदारी ली है। यूरोपीय संघ ने बांग्लादेश में दोनों विदेशी नागरिकों की हत्या की आलोचना करते हुए हत्याओं को ‘क्रूर’ बताया है।

‘डेली स्टार’ की खबर के अनुसार, ‘यूरोपीय संघ पीड़ित परिवारों के सदस्यों के प्रति संवेदना व्यक्त करता है।’ प्रतिनिधिमंडल ने विश्वास जताया कि बांग्लादेश दोषियों को जल्दी ही पकड़ेगा और उन्हें न्याय की जद में लाएगा। प्रधानमंत्री शेख हसीना ने सुरक्षा बलों से तुरंत हत्यारों को पकड़ने को कहा है। उन्होंने इस बात को खारिज किया है कि हत्याओं के पीछे आतंकवादी संगठन आइएस का हाथ है। उन्होंने कहा कि ऐसा मालूम होता है हत्यारे देश की छवि खराब करने का प्रयास कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App