scorecardresearch

Bangladesh Fuel Prices Hike: पेट्रोल-डीजल की क़ीमतों को लेकर बांग्लादेश में कोहराम, 51.7% की बढ़ोतरी पर जगह-जगह आगज़नी

Bangladesh Petrol Prices Hike News: रात 12:00 बजे से लागू हुई नई कीमतों के मुताबिक बांग्लादेश में एक लीटर पेट्रोल का दाम 130 टका है। बीती रात से इसमें 44 टका या फिर 51.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

Bangladesh Fuel Prices Hike: पेट्रोल-डीजल की क़ीमतों को लेकर बांग्लादेश में कोहराम, 51.7% की बढ़ोतरी पर जगह-जगह आगज़नी
Bangladesh Petrol Prices Hike : बांग्लादेश में जगह-जगह पर आगजनी होने की खबरें हैं(फोटो सोर्स: ट्विटर वीडियो ग्रैब)।

Bangladesh Financial Crisis News In Hindi: महंगाई को लेकर श्रीलंका में बने हालात के बाद बांग्लादेश में स्थिति भी बिगड़ती नजर आ रही है। बता दें कि बांग्लादेश में आम जनता महंगाई से त्रस्त है। ऐसे में 5 अगस्त की रात पेट्रोल के दामों में 51.7 फीसदी और डीजल की कीमतों में 42 फीसदी की बढ़ोतरी करके वहां की सरकार ने आम लोगों को एक और झटका दिया है।

इसको लेकर बांग्लादेश में कोहराम मच गया है। जगह-जगह पर आगजनी होने की खबरें हैं और लोग सड़कों पर उतर आए हैं। वहीं पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए पुलिस फायरिंग भी की है। जिससे लोगों का गुस्सा और बढ़ गया है। दूसरी तरफ बढ़े दाम लागू होने से पहले ही लोग अपनी गाड़ियों के साथ पेट्रोल पंप पर जमा हो गये।

वहीं पेट्रोल पंप के मालिकों का कहना था कि जब तेल के बढ़े दाम लागू हो तब वे बेचेंगे, ऐसे में उन्होंने लोगों को तेल देने से मना कर दिया। जिसके बाद लोगों का आक्रोश सातवें आसमान पर पहुंच गया और प्रदर्शन शुरू हो गया।

रात 12:00 बजे से लागू हुई नई कीमतों के मुताबिक बांग्लादेश में एक लीटर पेट्रोल का दाम 130 टका है। बीती रात से इसमें 44 टका या फिर 51.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। दाम बढ़ाने को लेकर बांग्लादेश के बिजली, ऊर्जा और खनिज संसाधन मंत्रालय ने कहा है कि बढ़ोतरी का फैसला अंतरराष्ट्रीय बाजार में ईंधन के दामों में हुई वृद्धि के चलते लिया गया है।

मंत्रालय ने कहा कि कम दाम पर ईंधन बेचने के चलते बांग्लादेश पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन (BPC) को इस साल फरवरी से जुलाई के बीच 8,014.51 टका का घाटा हुआ है। मंत्रालय की प्रेस रिलीज में कहा गया है कि इंटरनेशनल मार्केट में फ्यूल की कीमत बढ़ने से भारत समेत कई देश पहले ही यह फैसला ले चुके हैं।

बांग्लादेश अपने विदेशी मुद्रा भंडार को बढ़ाने के प्रयास में लगा हुआ है। दरअसल बांग्लादेश की 416 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था कई सालों से दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था रही है, लेकिन रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण बढ़ती ऊर्जा और खाद्य कीमतों ने इसके आयात बिल और चालू खाते के घाटे को बढ़ा दिया है।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट