ताज़ा खबर
 

बान की-मून ने जताया सत्यार्थी और मलाला को संयुक्तराष्ट्र का समर्थन

संयुक्त राष्ट्र। इस साल नोबेल शांति पुरस्कार विजेताओं कैलाश सत्यार्थी और मलाला यूसुफजई की सराहना करते हुए संयुक्तराष्ट्र प्रमुख बान की-मून ने कहा है कि दो ‘उत्कृष्ट’ एशियाई नागरिकों ने दुनियाभर के उन लोगों को उम्मीद दी है, जो शोषण के खिलाफ संघर्ष कर रहे हैं। इसके साथ ही बान ने इन दोनों के ‘बेहद […]

Author Published on: October 17, 2014 3:11 PM

संयुक्त राष्ट्र। इस साल नोबेल शांति पुरस्कार विजेताओं कैलाश सत्यार्थी और मलाला यूसुफजई की सराहना करते हुए संयुक्तराष्ट्र प्रमुख बान की-मून ने कहा है कि दो ‘उत्कृष्ट’ एशियाई नागरिकों ने दुनियाभर के उन लोगों को उम्मीद दी है, जो शोषण के खिलाफ संघर्ष कर रहे हैं। इसके साथ ही बान ने इन दोनों के ‘बेहद महत्वपूर्ण कार्य’ को इस वैश्विक संगठन की ओर से समर्थन का आश्वासन दिया है।

कल एशिया सोसाइटी गेम चेंजर अवॉर्ड्स में अपने संबोधन में बान ने सत्यार्थी और यूसुफजई को बधाई देते हुए कहा कि ये पुरस्कार ‘महत्वपूर्ण’ एशियाई लोगों के शानदार प्रदर्शन का जश्न मनाते हैं।

इस पुरस्कार की स्थापना एक प्रमुख शैक्षणिक एवं सांस्कृतिक संगठन एशिया सोसाइटी ने ‘‘एशिया के भविष्य के लिए सकारात्मक योगदान करने वाले वास्तविक नेतृत्वकर्ताओं’’ को सम्मानित करने के लिए की है।

बान ने कहा कि इस पुरस्कार समारोह की शुरूआत से एक सप्ताह पहले ही इस वर्ष का नोबेल शांति पुरस्कार ‘‘दो महत्वपूर्ण एशियाई नागरिकों के नाम हुआ।’’

संयुक्तराष्ट्र प्रमुख ने कहा कि सत्यार्थी और यूसुफजई ने ‘‘दुनियाभर के उन लोगों में एक उम्मीद की किरण जगाई है, जो शोषण, भेदभाव और हिंसा के खिलाफ संघर्ष कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘वे दोनों संयुक्तराष्ट्र के बहुत अच्छे मित्र भी हैं। दोनों ही संयुक्तराष्ट्र की सभाओं में बाल सशक्तीकरण की बात रख चुके हैं। संयुक्तराष्ट्र उनके बेहद महत्वपूर्ण कार्य का समर्थन जारी रखेगा।’’

एशिया सोसाइटी गेम चेंजर अवॉर्ड्स मलाला और दो भारतीयों समेत कुल 11 लोगों को दिया गया है। इन दो भारतीयों के नाम पवन सिन्हा और माधव चव्हाण हैं। पवन एमआईटी में मस्तिष्क एवं अनुभूति विज्ञान विभाग के प्रोफेसर हैं और चव्हाण प्रथम चेरीटेबल ट्रस्ट के सहसंस्थापक एवं प्रमुख कार्यकारी अधिकारी हैं।

मलाला ने इस समारोह को इंग्लैंड के बर्मिंघम से एक वीडियो संदेश के माध्यम से संबोधित किया। वहां वे अपनी पढ़ाई पूरी कर रही हैं।

मलाला ने कहा, ‘‘उत्कृष्ट लोगों की सूची में शामिल करके मुझे दिए गए इस सम्मान के लिए मैं एशिया सोसाइटी का शुक्रिया अदा करती हूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे बहुत से देश हंै और ऐसे बहुत से मुद्दे है, जिनके कारण बच्चों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है लेकिन वहीं आवाज उठाने वाले लोग भी हैं, जो पूरी स्थिति को बदलकर रख देंगे। ये लोग इनके भविष्य के लिए काम करेंगे। हमें यह सब मिलकर करना है।’’

पुरस्कार प्राप्त करने वाले अन्य लोगों में अलीबाबा समूह के प्रमुख जैक मा, ऑस्कर विजेता पाकिस्तान फिल्मकार शरमीन ओबैद-चिनॉय, जापान में शिगेरू बान आर्किटेक्ट्स के संस्थापक शिगेरू बान, इंडोनेशियाई राष्ट्रपति के मंत्री एवं वरिष्ठ सलाहाकार कुंतोरो मांगकुसुब्रोतो, शंघाई नॉर्मल विश्वविद्यालय में प्रोफेसर जांग मिंग्शुआ और मोबी समूह के प्रमुख अफगानिस्तान के साद मोहसेनी हैं।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X