ताज़ा खबर
 

सोचा नौकरी मिल जाएगी और हैक कर लिया Apple का सिस्टम, 17 साल के लड़के को अदालत ने भी रिहा किया

ऑस्ट्रेलिया में एक 17 साल के स्कूली छात्र ने Apple कंपनी को इंप्रेस करने के लिए उसके सुरक्षित सिस्टम को हैक कर लिया। अदालत ने इस स्कूली छात्र को दोषी ठहराया। हालांकि, नौकरी की चाह वाले इस छात्र को सजा नहीं दी।

एपल के प्रवक्ता ने इस केस के बारे में पूछने पर कुछ भी नहीं कहा। (प्रतीकात्मक फोटोः रॉयटर्स)

सामान्य रूप से टेक कंपनी में नौकरी पाने के लिए लोग टेक्निकल एजुकेशन के साथ अपनी रुचि के क्षेत्र में अनुभव हासिल करने के साथ इंटर्नशिप के लिए अप्लाई करते हैं। वहीं, ऑस्ट्रेलिया में एक स्कूली छात्र ने Apple कंपनी में जॉब पाने का एक अलग ही तरीका निकाला।

17 वर्षीय इस छात्र ने कंपनी को इंप्रेस करने के लिए Apple का सिक्योरिटी सिस्टम ही हैक कर लिया। इस मामले में एडिलेड की स्थानीय अदालत ने छात्र को दोषी ठहराया। हालांकि, छात्र की मंशा और अच्छे व्यवहार को देखते हुए उसे कोई सजा नहीं दी गई। अदालत ने उसे 500 ऑस्ट्रेलियन डॉलर के बॉन्ड पर छोड़ दिया।

इससे पहले अदालत में सुनवाई के दौरान छात्र के वकील ने कहा कि उसके मुवक्किल ने 13 साल की उम्र में ही हैकिंग की शुरुआत कर दी थी। छात्र उस समय अपना तकनीकी कौशल दिखाने के लिए ऐसा करता था। दरअसल, छात्र ने यूरोप में एक व्यक्ति के बारे में कहानी सुनी थी कि उस व्यक्ति ने भी ऐसा ही कुछ किया था तो इसके बाद कंपनी ने उसे अपने यहां नियुक्त कर लिया था।

यह छात्र कॉलेज में डिजिटल सिक्योरिटी और क्रिमिनोलॉजी विषय की पढ़ाई करना चाहता है। उसे इस बात का बिल्कुल भी पता नहीं था कि हैकिंग की सजा से उसका करियर शुरू होने से पहले ही खत्म हो जाएगा। एबीसी न्यूज के अनुसार Apple के प्रवक्ता ने इस केस के बारे में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। हालांकि, Apple की तरफ से कहा गया कि कोई भी व्यक्तिगत डाटा और सूचना लीक नहीं हुई है।

90 जीबी डाटा का लिया एक्सेसः स्थानीय न्यूजपेपर के अनुसार दिसंबर 2015 में और दिसंबर 2017 में छात्र ने Apple के सिक्योरिटी सिस्टम को हैक कर 90 जीबी डाटा हैक कर लिया था। उसने हैक किए गए डाटा को ”हैक हैक हैक’ नाम के फोल्डर में स्टोर किया था।

नाबालिग होने के कारण उसकी पहचान को सार्वजनिक नहीं किया गया। मामले की जानकारी मिलने के बाद Apple की तरफ से यूएस फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन से इसकी शिकायत की थी। इसके बाद एफबीआई ने टीनएजर के घर पर छापा मारकर 2 लैपटॉप, एक हार्ड ड्राइव और एक मोबाइल फोन जब्त किया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 प्रधानमंत्री की द्विपक्षीय वार्ताएं शुरू: किर्गिज राष्ट्रपति से मिले और कई राष्ट्राध्यक्षों से आज होगी मुलाकात
2 ब्रिटिश अदालत ने नीरव मोदी को 27 जून तक रिमांड में भेजा, PNB घोटाले का है आरोपी
3 भारत के साथ लगने वाले हवाई सीमा की बंदी पाकिस्तान ने दूसरी बार बढ़ाई, अब 15 जून तक रहेंगे बंद