ताज़ा खबर
 

इमाम की टीवी शो पर हुई जूते से पिटाई, ‘महिलाओं के हक’ की कर रहा था बात, लोगों ने लाइव देखा VIDEO

सिडनी के एक विवादित इमाम की लाइव टीवी पर जूते से पिटाई होने का एक वीडियो सामने आया है।
2014 में मुस्तफा ने एक फतवा भी जारी किया था कि कुरान में किसी भी मुस्लिम महिला को हिजाब या बुर्का पहननने के लिए बाधित नहीं किया गया है।

सिडनी के एक विवादित इमाम की लाइव टीवी पर जूते से पिटाई होने का एक वीडियो सामने आया है। इसमें दिखाया गया है कि इमाम मुस्तफा राशिद पर उनके साथ डिबेट कर रहे नाहिब अल वाशाह ने जूते बरसा दिए। नाहिब पेशे से वकील हैं। डेल मेल की खबर के मुताबिक, मुस्तफा और नाहिब के बीच इस बात को लेकर डिबेट हो रही थी कि मुस्लिम महिलाओं को बुर्का और हिजाब पहनना चाहिए या नहीं। मुस्तफा ने डिबेट में कहा था कि मुस्लिम महिलाओं को बुर्का या फिर हिजाब पहनने की कोई जरूरत नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं को शराब पीने की भी मनाही नहीं है। इसपर नाहिब भड़क गए और लड़ाई हो गई। वीडियो में दिखाया गया है कि थोड़ी सी बहस होने के बाद मुस्तफा अपनी सीट के खड़े हो जाते हैं और नाहिब से कुछ कहने लगते हैं। इसपर नाहिब अपने सीधे पैर का जूता निकालकर मुस्तफा की तरफ भागते हैं और उन्हें जूता मार भी देते हैं। दोनों के बीच में बैठा एंकर बीच-बचाव की कोशिश करता है लेकिन कोई फायदा नहीं होता। इस शो का एंकर अल घाटी नाम का शख्स था। वह लड़ाई होने के बाद इस वीडियो को दर्शकों के लिए फिर से चलाता है और साथ ही लाइव टीवी पर ऐसा होने के लिए माफी भी मांगता है।

खबर के मुताबिक, मुस्तफा पहले मिस्त्र में ही रहते थे। उनके इस्लाम धर्म के मौलवियों और धर्मगुरुओं से मेल ना खाते उनके ‘नए विचारों’ की वजह से वह हमेशा मौलवियों और इमामों के निशाने पर रहते हैं। 2014 में मुस्तफा ने एक फतवा भी जारी किया था कि कुरान में किसी भी मुस्लिम महिला को हिजाब या बुर्का पहननने के लिए बाधित नहीं किया गया है। साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा था कि कुरान के हिसाब से महिलाओं का शराब पीना भी गलत नहीं है।

इस तरह की और खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.