ताज़ा खबर
 

अमेरिकी जंगी जहाजों ने यमन में हौती विद्रोहियों के रडार स्टेशन पर दागे क्रूज मिसाइल

मेरिकी रक्षा अधिकारियों ने बताया कि अमेरिकी सेना की ओर से किया गया यह हमला इसी सप्ताह अमेरिकी नौसेना के एक विध्वंसक पोत पर किए गए विफल मिसाइल हमले के जवाब में किया गया है।
Author वाशिंगटन | October 13, 2016 11:59 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर।(Photo: Reuters)

यमन से लगे समुद्र तट पर तैनात अमेरिकी जंगी जहाजों ने गुरूवार को हौती विद्रोहियों के नियंत्रण वाले क्षेत्रों में इंस्टॉल किए गए रडारों को निशाना बनाकर क्रूज मिसाइल्स दागे। अमेरिकी रक्षा अधिकारियों ने बताया कि अमेरिकी सेना की ओर से किया गया यह हमला इसी सप्ताह अमेरिकी नौसेना के एक विध्वंसक पोत पर किए गए विफल मिसाइल हमले के जवाब में किया गया है। पेंटागन ने इन हमलों की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि जिन रडार स्टेशन्स को निशाना बनाकर मिसाइल दागे गए उनका इस्तेमाल यमन के विद्रोहियों द्वारा किया जा रहा था। पेंटागन के मुताबिक इस रडार स्टेशन के जरिए विद्रोही एक और अमेरिकी जंगी जहाज को निशाना बनाकर हमला करना चाहते थे।

यमन में हौती विद्रोहियों और सरकार के बीच सालों से चल रहे गृहयुद्ध में संभवत: यह पहला मौका है जब अमेरिका ने यमन में हमला किया है और विद्रोहियों के विरुद्ध सैन्य ताकत का इस्तेमाल किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की ओर से स्वीकृत मिलने के बाद अमेरिकी जंगी जहाजों द्वारा यमन में हौती नियंत्रित क्षेत्रों पर की गयी पहली प्रत्यक्ष सैन्य कार्रवाई है। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता पीटर कुक ने बताया कि इन हमलों में हौती के रडार क्षेत्र संभवत: नष्ट हो गये हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिकी नौसेना की ओर से किए गए यह हमले अपनी आत्मरक्षा के लिए किए गए हैं और चेतावनी दी कि यदि दोबारा अमेरिकी जहाजों को निशाना बनाने की कोशिश की जाती है तो फिर से हमला होगा। कुक ने कहा कि अमेरिका अपने जहाजों और व्यापारिक गतिविधियों की रक्षा करने के लिए सभी कदम उठाएगा।

वीडियो: जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अज़हर ने भारत के खिलाफ जिहाद छेड़ने की अपील की

इस हमले के बाद अमेरिका के एक वरिष्ठ सेनाधिकारी ने कहा कि अमेरिकी नौसेना द्वारा जिन रडार सिस्टम्स को निशाना बनाकर हमला किया गया था वे यमन के बाहरी क्षेत्रों में स्थित हैं। इस हमले में किसी निर्दोष नागरिक के मारे जाने की संभावना कम है। वैसे अधिकारी ने इस बात की पुष्टि नहीं की कि इस हमले में निर्दोष नागरिक नहीं मारे गए। गौरतलब है कि यमन में हौती विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाके से अमेरिकी जंगी जहाजों को निशाना बनाकर दो मिसाइलें दागी गईं थीं। ये मिसाइल्स लाल सागर में अमेरिकी जंगी जहाजों के करीब गिरीं थीं। अमेरिकी नेवी इसकी जानकारी दी थी। यूएसएस मेसन ने 60 मिनट के अंतराल पर लाल सागर में यमन तट पर दो मिसाइलों की पहचान की थी।

Read Also: तीन महिलाओं का डोनाल्ड ट्रंप पर गलत ढंग से छूने का आरोप, एक ने कहा- प्लेन में की गंदी हरकत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.