ताज़ा खबर
 

CAB पर अमेरिका की भारत को नसीहत- धार्मिक अल्पसंख्यकों के अधिकार की करें रक्षा

Citizenship Amendment Bill 2019: अमेरिका ने कहा है कि वह भारत में नागरिकता संशोधन बिल पर जारी गतिविधियों पर निगाह बनाए हुए हैं।

Author Edited By मोहित Updated: December 13, 2019 6:04 PM
असम में और तेज हुआ विरोध प्रदर्शन। फोटो: PTI

Citizenship Amendment Bill 2019: नागरिकता संशोधन बिल का देश के कई राज्यों में विरोध किया जा रहा है। पूर्वोतर के राज्यों में बिल के खिलाफ लोग सड़कों पर हैं। इस बीच अमेरिका ने भारत को बिल पर खुली नसीहत दी है। अमेरिका ने कहा है कि भारत धार्मिक अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा करें। अमेरिका ने कहा है कि भारत अपने संविधान और लोकतांत्रिक मूल्यों को ध्यान में रखते हुए अल्पसंख्यकों को नजरअंदाज न करें।

स्टेट डिपार्टमेंट के प्रवक्ता ने कहा ‘हम भारत में नागरिकता संशोधन बिल पर जारी गतिविधियों पर निगाह बनाए हुए हैं। धार्मिक स्वतंत्रता और कानून के तहत समान व्यवहार के लिए सम्मान हम दोनों लोकतांत्रिक देशों के मूल सिद्धांत हैं।’

बता दें कि इस बिल पर गुरुवार देर रात राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दस्तख्त कर दिए जिसके बाद यह कानून का रूप ले चुका है। इसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए गैर मुस्लिम शरणार्थी- हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है।

मालू हो कि अमेरिका के यूएस कमीशन ऑन इंटरनेशनल रिलीजियस फ्रीडम (USCIRF) ने भी इस बिल पर गहरी चिंता जाहिर की है और इस बिल के विरोध में अमेरिकी सरकार से केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह समेत तमाम बड़े नेताओं पर बैन लगाने की मांग की है।

यह संस्था दुनियाभर में अल्पसंख्यकों और धर्म से जुड़े फैसलों और गतिविधियों पर निगरानी रखती है और अमेरिकी सरकार को सुझाव देती है। कमीशन ने कैब पर भी सुझाव दिया है जिसमें कहा गया है कि संसद में इस बिल के पास होने पर अमेरिकी सरकार को अमित शाह और भारत के तमाम बड़े नेताओं पर प्रतिबंध लगा देने चाहिए। हालांकि भारत सरकार ने कमीशन के इस सुझाव को बेतुका करार दिया है। भारत ने कहा है कि किसी भी देश को भारत के फैसलों और उसके अंदरूनी मामलों में दखल देने का अधिकार नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 UK General Election: बोरिस जॉनसन सरकार को मिली ऐतिहासिक जीत, बोले- जनता के इस विश्वास के बदले दिन-रात काम करेंगे
2 Apple, Micorsoft को पीछे छोड़ दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बनी सऊदी आरामको, IPO से जुटाए रिकॉर्ड 25.6 अरब डॉलर
3 अमेरिका की पाकिस्तान को लताड़, एयर फोर्स चीफ को चिट्ठी लिख पूछा- भारत के खिलाफ क्यों किया विमान F-16 का इस्तेमाल?
ये पढ़ा क्‍या!
X