ताज़ा खबर
 

पाकिस्‍तान को अमेरिकी सांसद की चेतावनी- ऐसे ही चलता रहा तो होंगे 1971 के बंटवारे जैसे हालात

वॉशिंगटन स्थित ‘‘सिंधी फाउंडेशन’’ ने सिंधी भाषा एवं लोगों की सुरक्षा के प्रयासों के लिए शरमन को सम्मानित किया।

Author September 26, 2016 08:55 am
शरमन सदन की एशिया और प्रशांत क्षेत्र पर विदेश मामलों की उप समिति के सदस्य भी हैं।

एक शीर्ष अमेरिकी सांसद ने पाकिस्तान पर शासन करने के लिए जिहादी चरमपंथ का उपयोग करने और देश में अन्य संस्कृतियों को दमन करने का आरोप लगाते हुए इस्लामाबाद को चेताया है कि अगर यही सिलसिला जारी रहा तो उसे वर्ष 1971 के विभाजन जैसे हालात का सामना करना पड़ सकता है। कांग्रेस के ब्रैड शरमन ने कल एक कार्यक्रम में कहा ‘‘जो लोग सोचते हैं कि वे अन्य संस्कृतियों पर हमले कर तथा उनका दमन कर पाकिस्तान को एकजुट रख सकते हैं, उन्हें ढाका जाना चाहिए।’’ शरमन सदन की एशिया और प्रशांत क्षेत्र पर विदेश मामलों की उप समिति के सदस्य भी हैं। ‘‘सिंधी फाउंडेशन’’ में अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि एक के बाद एक आती गईं पाकिस्तानी सरकारें, खास कर वर्तमान सरकार ने सिंधियों की समृद्ध सांस्कृतिक धरोहर पर चरणबद्ध तरीके से हमले करने की कोशिश की है।

वॉशिंगटन स्थित ‘‘सिंधी फाउंडेशन’’ ने सिंधी भाषा एवं लोगों की सुरक्षा के प्रयासों के लिए शरमन को सम्मानित किया। कांग्रेस सदस्य ने कहा कि यह (सरकार) समृद्ध सिंधी भाषा और संस्कृति का ‘‘दमन’’ करने के लिए सरकारी मशीनरी का उपयोग कर रही है। शरमन ने कहा कि अगर इस्लामाबाद सोचता है कि संस्कृतियों का दमन करने की कम या ज्यादा कोशिश उसकी भूभागीय एकता को बनाए रखने का तरीका है तो ऐसी सोच वालों को बांग्लादेश की ओर देखना चाहिए। कराची स्थित ‘‘सिंध यूनाइटेड पार्टी’’ के अध्यक्ष सैयद जलाल मोहम्मद शाह ने दावा किया कि ‘‘दो राष्ट्र सिद्धांत’’ की वजह से आज पाकिस्तान में धार्मिक चरमपंथ का बोलबाला है।

READ ALSO: रियो जाने के सवाल पर खेल मंत्री विजय गोयल और उनके जूनियर के बीच सार्वजनिक कार्यक्रम में नोकझोंक

शनिवार को पीएम मोदी ने कोझीकोड में रैली को संबोधित करते हुए पाकिस्तान पर हमला बोला था। पीएम मोदी ने कहा था कि पाकिस्तान के लोगों को अपने नेताओं से कहना चाहिए कि भारत और पाकिस्तान ने एक साथ ही आजादी पाई थी लेकिन भारत सॉफ्टवेयर एक्सपोर्ट करता है और हमारा देश आतंकी एक्सपोर्ट करता है। उन्होंने कहा कि भारत कभी भी उरी आतंकी हमले को नहीं भूल ससकता। साथ ही उन्होंने पाकिस्तान को चुनौती दी कि अगर वे युद्ध चाहते हैं तो गरीबी और समाज की अन्य बुराईयों के खिलाफ लड़ें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App