ताज़ा खबर
 

दीपावली पर भारतवंशियों की अहमियत को मानते हुए अमेरिका जारी करेगा नई डाक टिकट

भारतवंशियों की समृद्ध पहचान और अहमियत को स्वीकार करते हुए अमेरिका इस साल एक खास डाक टिकट जारी करने ज रहा है।

Author न्यूयॉर्क | Published on: August 25, 2016 4:10 AM
अमेरिकी झंडा

भारतवंशियों की समृद्ध पहचान और अहमियत को स्वीकार करते हुए अमेरिका इस साल एक खास डाक टिकट जारी करने ज रहा है। भारतीय समुदाय ने इस कदम पर खुशी जताई है और कहा है कि इससे भारत और अमेरिका के नाते और पुख्ता होंगे। दरअसल भारतीय अमेरिकियों और प्रभावशाली अमेरिकी सांसदों के सात साल से जारी प्रयासों के कारण ही अमेरिका दिवाली पर स्मारक डाक टिकट जारी करेगा। इस स्मारक टिकट का औपचारिक रूप से पांच अक्तूबर को अनावरण किया जाएगा। इसमें चमकती हुई सुनहरी पृष्ठभूमि में जलते हुए एक परंपरागत दीप की तस्वीर होगी और ‘फॉरएवर यूएसए 2016’ लिखा होगा।

न्यूयॉर्क से कांग्रेस की सदस्य कैरोलिन मेलोनी ने बताया कि अमेरिकी डाक सेवा (यूएसपीएस) ‘दीप पर्व दीवाली के सम्मान में’ नवंबर से यह डाक टिकट जारी करेगा । यूएसपीएस के सैली एंडर्सन ब्रूस (कनेक्टिकट) ने दिए की तस्वीर ली है और वर्जीनिया के ग्रेग ब्रीडिंग ने वाशिंगटन के विलियम गिकर के साथ मिलकर टिकट का डिजाइन तैयार किया है। गिकर परियोजना के कला निदेशक हैं। मेलोनी ने बताया कि दिवाली पर टिकट बरसों की कड़ी मेहनत का नतीजा है। उन्होंने इस बात पर अफसोस जाहिर किया कि कई भारतीय अमेरिकियों और दुनिया के लाखों लोगों के लिए दीवाली के महत्त्वपूर्ण आध्यात्मिक और सांस्कृतिक पर्व होने के बावजूद अब तक उसका अपना कोई स्मारक टिकट नहीं था। मेलोनी ने कहा कि हर बड़े धर्म का अपना स्मारक टिकट है इसलिए दिवाली पर स्मारक टिकट की मांग लंबे समय से की जा रही थी।

उन्होंने जब सिटी हॉल से यह ‘ऐतिहासिक एलान’ किया तो शहर में भारत की वाणिज्य दूत रीवा गांगुली दास, दिवाली स्मारक टिकट परियोजना की प्रमुख रंजू बत्रा और प्रख्यात भारतीय अमेरिकी अटॉर्नी रवि बत्रा भी मौजूद थीं। मेलोनी ने कहा कि यह टिकट अमेरिकी डाक विभाग के लिए राजस्व जुटाने में अत्यंत महत्त्वपूर्ण होगा। दिवाली स्मारक टिकट परियोजना की प्रमुख रंजू बत्रा ने भारतीय अमेरिकी समुदाय के अन्य नेताओं के साथ मिलकर अभियान चलाया था और इसके लिए लाखों हस्ताक्षर जुटाए थे। मेलोनी ने यह भी बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वर्ष 2014 और 2015 में अपने अमेरिका दौरे के दौरान दिवाली स्मारक टिकट के लिए किए जा रहे प्रयासों से अवगत कराया गया था। रवि बत्रा ने मेलोनी के प्रयासों की सराहना की और इस कदम को भारत के एक अरब लोगों को जोड़ने वाला बताया। दीवाली स्मारक टिकट के लिए हाल ही में कांग्रेस सदस्य तुलसी गबार्ड ने यूएसपीएस को पत्र भी लिखा था जिसके साथ सैकड़ों हस्ताक्षर भी थे। गबार्ड कांग्रेस में एकमात्र हिंदू सदस्य हैं। उन्होंने कहा, यह फैसला हमारे देश की धार्मिक और सांस्कृतिक विविधता को और अधिक समृद्ध बनाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Kabul Attack: अमेरिकन यूनिवर्सिटी पर हमले में 1 छात्र की मौत, 14 लोग जख्मी
2 भारतीय मूल की ब्रिटिश युवती ने कहा- लंदन के एक एयरपोर्ट पर आईएसआईएस का आतंकी होने के शक में उतार लिया गया था
3 काबुल: अमेरिकन यूनिवर्सिटी ऑफ अफगानिस्तान के पास ब्लास्ट और गोलीबारी, 2 के मारे जाने की खबर
जस्‍ट नाउ
X