ताज़ा खबर
 

अमेरिका: कोलोराडो के स्‍कूल में बंदूक रख सकेंगे टीचर्स, हमला होने पर करेंगे बचाव

कोलोराडो स्प्रिंग्स के 30 मील दक्षिण पूर्व में दो डिस्ट्रिक्ट स्कूलों में करीब 270 छात्र पढ़ते हैं।
प्रतीकात्मक फोटो।

अमेरिका में ग्रामीण कोलोराडो स्कूल डिस्ट्रिक्ट ने अपने शिक्षकों और स्कूल के अन्य कर्मचारियों को छात्रों की सुरक्षा के लिए परिसर में बंदूक रखने की इजाजत देने का फैसला किया है। स्कूल कर्मचारियों को प्रशिक्षण के बाद अपने कार्य के दौरान हथियार रखने की इजाजत देने के पक्ष में हैनोवर स्कूल डिस्ट्रिक्ट 28 बोर्ड ने दो के मुकाबले तीन मतों से मतदान किया। कोलोराडो स्प्रिंग्स के 30 मील दक्षिण पूर्व में दो डिस्ट्रिक्ट स्कूलों में करीब 270 छात्र पढ़ते हैं और कानून प्रवर्तन अधिकारियों को वहां तक पहुंचने में औसतन 20 मिनट का समय लगता है। यह डिस्ट्रिक्ट अन्य चार स्कूल डिस्ट्रिक्ट्स के साथ वर्तमान में एक सशस्त्र स्कूल संसाधन अधिकारी की सेवा साझा करता है। ‘गजट आॅफ कोलोराडो स्प्रिंग्स’ की रिपोर्ट के अनुसार बोर्ड के सदस्य माइकल लॉसन ने इस विचार का समर्थन करते हुए कहा कि यह विचार ना केवल जबरदस्त गोलीबारी के दौरान छात्रों की सुरक्षा का एक तरीका है बल्कि इससे निकट के भांग की पैदावार से जुड़ी संभावित हिंसाओं के खिलाफ भी सुरक्षा मिलेगी।

बहरहाल, स्कूल बोर्ड के अध्यक्ष एवं सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी मार्क मैकफर्सन ने कहा कि एक सर्वेक्षण में यह पता चला कि इस मुद्दे पर समुदाय में बिखराव है। मैकफर्सन ने कहा कि उन्हें इस बारे में प्रशिक्षण दिया जाएगा लेकिन उन्हें नहीं लगता कि यह किसी पेशेवर शूटर से प्रभावी तरीके से निपटने में उनकी पर्याप्त मदद करेगा और उन्हें इस बात की भी चिंता है कि अगर उन्होंने गोली चलाई और निशाना चूक गया तो कक्षा में क्या होगा? मैकफर्सन ने कहा, ‘‘हमें इसे पेशेवरों पर छोड़ देना चाहिए।’’

अमेरिका में पिछले चार सालों में स्‍कूलों के भीतर 200 से ज्‍यादा शूटिंग के मामले दर्ज किए गए हैं। जो खतरनाक ढंग से एक प्रति सप्‍ताह के औसत से हुए। स्‍कूलों में गन वॉयलेंस और अन्‍य शूटिंग्‍स पर नजर रखने वाली संस्‍था एवरीटाउन फॉर गन सेफ्टी के डाटा के अनुसार, चार साल में 200 से ज्‍यादा स्‍कूल शूटिंग के वाकयों में 94 लोगों की मौत और 156 से ज्‍यादा लोग घायल हुए हैं। इसमें स्‍कूलों में बंदूक पकड़े जाने का डाटा शा‍मिल नहीं है।

पिछले चार साल में 19 राज्‍यों में प्राइवेट सेल बैकग्राउंड चेक की कमी को दूर किया है। इस लूपहोल के चलते गैर-लाइसेंसी ‘निजी’ वेंडर्स बिना बैकग्राउंड चेक के आसानी से हथियार बेच रहे थे।

स्‍टेज पर ही डांसर को मारी गोली, देखें दिल दहला देने वाला वीडियो: 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.