यहां के पत्रकारों को मिस्र में सजा सुनाए जाने से अमेरिका चिंतित

मिस्र की एक अदालत की तरफ से अल-जजीरा के तीन पत्रकारों को तीन वर्ष कैद की सजा सुनाये जाने के बाद अमेरिका ने इस पर ‘गहरी निराशा और चिंता’ प्रकट करते हुए वहां की सरकार से इसमें सुधार करने का आग्रह किया है।

मिस्र की एक अदालत की तरफ से अल-जजीरा के तीन पत्रकारों को तीन वर्ष कैद की सजा सुनाये जाने के बाद अमेरिका ने इस पर ‘गहरी निराशा और चिंता’ प्रकट करते हुए वहां की सरकार से इसमें सुधार करने का आग्रह किया है।

विदेश विभाग के प्रवक्ता जान किर्बी ने शनिवार को एक बयान में कहा ‘अल-जजीरा के तीन पत्रकारों मोहम्मद फाह्मी, बहेर मोहम्मद और पीटर ग्रेस्टे को लेकर मिस्र की एक अदालत द्वारा दिये गये फैसले से अमेरिका को गहरी निराशा और चिंता हुई है।’ उन्होंने कहा ‘हम लोग मिस्र की सरकार से इस फैसले में सुधार के लिए सभी संभव कदम उठाने का आग्रह करते हैं।’

उन्होंने कहा कि यह फैसला स्थिरता और विकास के लिए जरूरी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कमजोर करता है। हिरा की अदालत ने यह कहा था कि तीनों ने ‘झूठी’ खबरों का प्रसारण किया और इससे मिस्र को नुकसान पहुंचा। इसके बाद इस मुद्दे पर बढ़ रहे अंतरराष्ट्रीय आक्रोश पर भी अमेरिका ने बल दिया है।

अपडेट
X