ताज़ा खबर
 

400 मील तक उड़े अलास्का ज्वालामुखी से राख के बादल, 20 उड़ानें रद्द

ज्वालामुखी से निकल रही राख राख के बादल 37,000 फुट की ऊंचाई तक पहुंच गए और 50 मील प्रतिघंटे या इससे ज्यादा रफ्तार से चली हवा राख को अलास्का के 400 मील से भी ज्यादा अंदर तक ले आईं हैं।

Author एंकरेज (अमेरिका) | March 29, 2016 7:54 PM
Alaska Volcano, Pavlof Volcano, Alaska Pavlof Volcano, Alaska Flights, Alaska Volcano News, Alaska Volcano latest newsयह ज्वालामुखी अलास्का प्रायद्वीप में दक्षिण पश्चिम एंकरेज से 625 मील पर स्थित है। (एपी फोटो)

अलास्का ज्वालामुखी से निकल रही राख को तेज हवाएं राज्य के मध्य तक ले आई हैं जिसकी वजह से न सिर्फ विमान उड़ान नहीं भर पा रहे हैं ,सड़क मार्ग से भी पश्मिच और उत्तर की तरफ जाना मुश्किल हो गया है। पावलोफ ज्वालामुखी, अलास्का के सबसे सक्रिय ज्वालामुखियों में से एक है। यह अलास्का प्रायद्वीप में दक्षिण पश्चिम एंकरेज से 625 मील पर स्थित है। ज्वालामुखी 8,261 फुट ऊंचा पहाड़ है जिसमें रविवार (27 मार्च) शाम चार बजे से विस्फोट हो रहा है और लावा निकल रहा है। इससे निकल रही राख ने 20,000 फुट की ऊंचाई पर राख का बादल बना दिया है।

पर्वत के ऊपर रोशनी दिखाई देती रही और दवाब सेंसरों ने संकेत दिया कि ज्वालामुखी में से सोमवार (28 मार्च) रात भर और सुबह सात बजे तक लावा निकलता रहा। राख के बादल 37,000 फुट की ऊंचाई तक पहुंच गए और 50 मील प्रतिघंटे या इससे ज्यादा रफ्तार से चली हवा राख को अलास्का के 400 मील से भी ज्यादा अंदर तक ले आईं हैं।

अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के भूविज्ञानी क्रिस वायथोमस ने कहा कि यह ज्वालामुखी अलास्का में ऐसी जगह स्थित हैं जहां से बहुत सारी उड़ानें गुजरती हैं। अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण अलास्का वोल्कॉनो ऑब्जर्वेटरी का हिस्सा है। प्रवक्ता बॉबी एगान ने कहा कि अलास्का एयरलाइंस ने दोपहर से पहले 20 उड़ानों को रद्द किया है जिससे करीब 1300 यात्री प्रभावित हुए हैं। एंकरेज या फेयरबैंक्स से कोई उड़ान रद्द नहीं की गई है लेकिन एगान ने कहा कि कंपनी फेयरबैंक्स मार्ग की बारीकी से निगरानी कर रही है।

Next Stories
1 संघर्ष रोकने के लिए ज्यादा महिलाओं की भागीदारी जरूरी: भारत
2 तलाक लेने जा रहे ब्रैड पिट-एंजलिना? फ्लर्ट, जलन, ड्रग्‍स से लेकर वजन तक बताए जा रहे कारण
3 उत्तर कोरिया ने समुद्र में दागे कम दूरी के ‘रॉकेट’, दक्षिण कोरिया ने कहा- किसी भी हालात के लिए तैयार
ये पढ़ा क्या?
X