अफगान संकट: व‍िपक्ष से संपर्क साधेगी मोदी सरकार, व‍िदेश मंत्रालय को दी ज‍िम्‍मेदारी

भारत अफगानिस्तान में फंसे भारतीय नागरिकों को निकाल रहा है और उसे काबुल से हर रोज दो उड़ानें संचालित करने की अनुमति दी गई है।

PM Modi Sad, Haryana
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स – पीटीआई)

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेश मंत्रालय से राजनीतिक दलों के नेताओं को अफगानिस्तान के घटनाक्रम के बारे में जानकारी देने को कहा है। केंद्र सरकार ने अफगानिस्तान पर 26 अगस्त को सुबह 11 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाने का फैसला किया है। भारत अफगानिस्तान में फंसे भारतीय नागरिकों को निकाल रहा है और उसे काबुल से हर रोज दो उड़ानें संचालित करने की अनुमति दी गई है। भारत ने आश्वासन दिया है कि वह हिंदुओं और सिखों के साथ-साथ अफगानिस्तान में अपने मित्र देशों की भी मदद देगा।

विदेश मंत्री जयशंकर ने ट्वीट किया, “अफगानिस्तान के घटनाक्रम के मद्देनजर, पीएम नरेंद्र मोदी ने विदेश मंत्रालय को राजनीतिक दलों के फ्लोर लीडर्स को जानकारी देने का निर्देश दिया है। संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी आगे की जानकारी देंगे।” हालांकि इस पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सवाल किया कि प्रधानमंत्री विपक्षी नेताओं को जानकारी क्यों नहीं दे सकते। बता दें कि कल एक सी-17 विमान 107 भारतीयों सहित 168 यात्रियों को लेकर आया था। उनमें से अनारकली होनारयार और दो अफगान सीनेटर नरेंद्र सिंह खालसा थे।

इसके अलावा अफगानिस्तान से भारतीय एयर इंडिया, इंडिगो और विस्तारा की तीन उड़ानों में भी आए। ये उड़ानें ताजिकिस्तान की राजधानी दुशांबे और कतर के दोहा से दिल्ली में उतरी। वहीं, जर्मनी के अधिकारियों ने बताया कि सोमवार तड़के काबुल अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के एक द्वार पर गोलीबारी में अफगानिस्तान के कम से कम एक सुरक्षा अधिकारी की मौत हो गई।

तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान सरकार के सुरक्षा बल भाग निकले हैं लेकिन कुछ हथियारबंद अफगान काबुल हवाईअड्डे पर मौजूद हैं और वहां से लोगों को निकालने के लिए जद्दोजहद कर रहे पश्चिमी देशों एवं अन्य की मदद कर रहे हैं। यह साफ नहीं है कि वे अफगान सीमा बलों से हैं या नहीं जो कभी हवाईअड्डे की सुरक्षा में तैनात रहते थे या फिर वे पश्चिमी सेनाओं के साथ निजी सुरक्षा गार्डों के रूप में तैनात हैं जो अभी फिलहाल वहां की सुरक्षा को देख रही है।

सोमवार तड़के, मुठभेड़ हवाईअड्डे के उत्तरी द्वार पर हुई। गोलीबारी किसने शुरू की और किन हालात में हुई यह भी अभी साफ नहीं है। जर्मन सेना ने ट्वीट करके बताया कि सोमवार को स्थानीय समयानुसार करीब पौने सात बजे हुई इस मुठभेड़ में अफगानिस्तान के एक सुरक्षा अधिकारी की मौत हो गई है जबकि तीन अन्य घायल हो गए हैं।

पढें अंतरराष्ट्रीय समाचार (International News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X