ताज़ा खबर
 

दक्षिण सूडान की घटना को लेकर कार्रवाई की जाएगी: संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र के सूत्रों के अनुसार मालाकाल में घटना के समय इथोयोपिया, रवांडा, भारत और बांग्लादेश की सैन्य टुकड़ियां मौजूद थी।

Author संयुक्त राष्ट्र | June 24, 2016 14:19 pm
संयुक्त राष्ट्र (फाइल फोटो)

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि दक्षिण सूडान में उसके आधार कैंप पर हमले के दौरान ‘अपर्याप्त कदम उठाने’ के लिए जिम्मेदार पाए गए शांतिरक्षकों को वापस उनके देश भेजा जाएगा। इस घटना के बाद फरवरी में 48,000 नागरिकों ने शरण मांगी थी। संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष शांतिरक्षक अधिकारी ने कहा कि जांच में पाया गया कि हमले के बाद दिए गए आदेश और नीतियों से भ्रम की स्थिति पैदा हुई और इससे शांतिरक्षकों का काम बहुत प्रभावित हुआ और संयुक्त राष्ट्र ने इसे बहुत ‘गंभीरता’ से लिया है।

शांतिरक्षक अभियानों के अवर महासचिव हर्वे लैडसोस ने संवाददाताओं से गुरुवार (23 जून) को कहा, ‘हम लोगों ने इस तथ्य को बहुत गंभीरता से लिया है कि जांच के लिए गठित बोर्ड ने उस समय घटनास्थल पर मौजूद हमारे कुछ लोगों द्वारा अपर्याप्त कदम उठाने की बात कही है…कुछ लोगों में जवाबदेही और नीतियों की समझ में कमी पायी गयी।’

लैडसोस ने हालांकि शांतिरक्षकों के देशों के नाम के बारे में नहीं बताया लेकिन संयुक्त राष्ट्र के सूत्रों के अनुसार मालाकाल में घटना के समय इथोयोपिया, रवांडा, भारत और बांग्लादेश की सैन्य टुकड़ियां मौजूद थी। एक भारतीय अधिकारी ने बताया कि घटना के समय शिविर की रक्षा भारतीय टुकड़ियां नहीं कर रही थी। लैडसोस ने कहा कि वह संबद्ध देशों के संयुक्त राष्ट्र में स्थायी प्रतिनिधियों से पहले ही बात कर चुके हैं लेकिन नामों को जाहिर करने का सही समय अभी नहीं आया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App