ताज़ा खबर
 

जिस देश में गैरकानूनी है बहुविवाह वहां मुस्लिमों को दूसरी पत्नी खोजने में मदद कर रही ये वेबसाइट

इस वेबसाइट के 1 लाख यूजर्स में से 25 हजार ब्रिटिश ही हैं। 'सेकंड वाइफ' वेबसाइट को बनाने वाले सुंदरलैंड के आजाद चाइवाला का कहना है कि वह केवल एक जरूरत को पूरा कर रहे थे।

ब्रिटेन की ये वेबसाइट मुस्लिम पुरुषों को दूसरी पत्नी खोजने में कर रही है मदद (फोटो सोर्स- सोशल)

यूनाइटेड किंगडम (यूके) में बहुविवाह प्रथा गैर कानूनी है। वहां एक से ज्यादा जीवनसाथी रखने पर सात साल की सजा का प्रावधान भी है, लेकिन आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि यूके में ही एक ऐसी वेबसाइट भी है जो मुस्लिम पुरुषों को दूसरी पत्नी खोजने में मदद कर रही है। जी हां, SecondWife.com नाम की इस वेबसाइट के 1 लाख से ज्यादा यूजर्स भी हैं। यूके में बहुविवाह गैर कानूनी तो है लेकिन अपंजीकृत धार्मिक समारोह को रोकने के लिए कोई भी कानून नहीं है। आपको बता दें कि बहुविवाह प्रथा को केवल उन्हीं देशों में मान्यता मिली है जहां उन्हें कानून के द्वारा दर्जा दिया गया है।

डेली मेल के मुताबिक इस वेबसाइट के 1 लाख यूजर्स में से 25 हजार ब्रिटिश ही हैं। ‘सेकंड वाइफ’ वेबसाइट को बनाने वाले सुंदरलैंड के आजाद चाइवाला का कहना है कि वह केवल एक जरूरत को पूरा कर रहे थे, लेकिन इस वेबसाइड के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों का कहना है कि वह महिलाओं का शोषण कर रहे हैं और असमानता को बढ़ावा दे रहे हैं। लोगों का कहना है कि बहुविवाह प्रथा की वजह से कई लड़कियों को बहुत कुछ सहन करना पड़ता है, इससे ह्यूमन ट्रैफिकिंग को भी बढ़ावा मिलता है।

डेली मेल के रिपोर्टर का कहना है कि उसने एक 18 वर्ष की महिला के रूप में उस वेबसाइट में साइन अप किया तब उससे आयु सत्यापन के लिए कुछ भी नहीं मांगा गया। इतना ही नहीं, उसे तुरंत ही 30 से 60 साल के बीच के कई मुस्लिम पुरुषों की प्रोफाइल दिखाई गई। सेंटर फॉर सेक्युलर स्पेस की यासमीन रहमान ने वेबसाइट को काफी खतरनाक बताते हुए इस मामले पर राजनेताओं से एक्शन लेने की अपील भी की है।

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि ये काफी खतरनाक है। यह असमानता को बढ़ावा दे रहा है और महिलाओं का शोषण भी हो रहा है। मुझे नहीं लगता की आजाद को इस तरह का कोई काम करने का हक है। मुझे लगता है कि वह कानून की अवहेलना कर रहा है। मैं कई ऐसी मुस्लिम महिलाओं से मिल चुकी हू्ं जो ह्यूमन ह्यूमन ट्रैफिकिंग का शिकार हुई हैं।’ बहुविवाह को लेकर कोई आधिकारिक जानकारी तो नहीं है लेकिन रिपोर्ट्स के मुताबिक ब्रिटिश मुस्लिम समुदाय में करीब 20 हजार बहुविवाह हुए हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App