ताज़ा खबर
 

अमेरिका में 70% लोगों ने कहा, ट्रंप के भाषण से भविष्य को लेकर उम्मीदें बढ़ी हैं

दो तिहाई लोगों ने ट्रंप के भाषण को सही करार दिया, जबकि एक चौथाई (26 फीसदी) लोगों ने इस भाषण को बहुत अधिक रुढ़िवादी पाया।

Author वॉशिंगटन | March 1, 2017 10:19 PM
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप। (AP/PTI)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कांग्रेस को पहली बार संबोधित किए जाने को लेकर बड़े पैमाने पर सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है। एक सर्वेक्षण में 57 फीसदी लोगों ने ट्रंप के भाषण को लेकर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है। सीएनएन-ओरआरसी के सर्वेक्षण के अनुसार राष्ट्रपति का भाषण देखने वाले 10 लोगों में से सात ने कहा कि ट्रंप के संबोधन ने देश की दिशा के बारे में अधिक उम्मीदें जगायी हैं। यह सर्वेक्षण अमेरिकी नागरिकों के एक समूह के बीच कराया गया जिन्होंने भाषण से पहले इसे टेलीविजन पर देखने की योजना बनाई थी और भाषण के बाद खुद से संपर्क करने की बात की थी।

सीएनएन का कहना है कि सर्वेक्षण में शामिल लोगों ने अर्थव्यवस्था को लेकर ट्रंप की प्रस्तावित नीतियों के लिए सबसे अधिक नंबर दिए। 72 फीसदी ने कहा कि अर्थव्यवस्था संबंधी नीतियां सही दिशा में जा रही हैं। इसी तरह आतंकवाद संबंधी ट्रंप के प्रस्तावों को भी लोगों का भरपूर समर्थन मिला। कर को लेकर उनकी नीतियों पर 64 फीसदी, आव्रजन पर 62 फीसदी और स्वास्थ्य सेवा पर 61 फीसदी लोगों ने समर्थन दिया। वैचारिक तौर पर दो तिहाई लोगों ने ट्रंप के भाषण को सही करार दिया, जबकि एक चौथाई (26 फीसदी) लोगों ने इस भाषण को बहुत अधिक रुढ़िवादी पाया।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 15399 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 25000 MRP ₹ 26000 -4%
    ₹0 Cashback

ट्रंप ने कांग्रेस के समक्ष अपने संबोधन में भारतीय इंजीनियर की हत्या की निंदा की

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कंसास में हुई गोलीबारी पर बुधवार (1 मार्च) को अपनी चुप्पी तोड़ते हुए इस घटना को ‘बुराई’ एवं ‘घृणा’ करार दिया। इस गोलीबारी में एक भारतीय इंजीनियर की मौत हो गई थी। ट्रंप ने अमेरिकी कांग्रेस के संयुक्त सत्र को पहली बार संबोधित करते हुए कहा, ‘यहूदी सामुदायिक केंद्रों को निशाना बनाकर हाल में दी गई धमकियां और यहूदी कब्रिस्तानों में तोड़ फोड़ की घटना के अलावा कंसास शहर में पिछले सप्ताह हुई गोलीबारी की घटना हमें याद दिलाती हैं कि हम नीतियों के मामले में भले ही बंटे हुए हो लेकिन हम घृणा एवं बुराई के सभी रूपों की निंदा के लिए एकजुट होकर खड़े हैं।’

पूर्व नौसैन्य कर्मी एडम पुरिन्टन ने एक रेस्त्रां में गोली मार कर श्रीनिवास कुचिभोटला (32) की हत्या कर दी थी और एक अन्य भारतीय आलोक मदसानी (32) को घायल कर दिया था। पुरिन्टन ने उन पर गोलीबारी करने से पहले उन्हें ‘आतंकवादी’ कहा था। उसने कहा था, ‘मेरे देश से बाहर निकल जाओ।’ इस दौरान 24 वर्षीय अमेरिकी इयान ग्रिलॉट भी बीच बचाव करने की कोशिश करते हुए घायल हो गया था। पुरिन्टन (51) ने इन भारतीयों को स्पष्ट रूप से गलती से पश्चिम एशिया से आए प्रवासी समझ लिया था। ट्रंप के बयान से पहले व्हाइट हाउस ने गोलीबारी को ‘नस्लवाद से प्रेरित घृणा’ बताकर इसकी निंदा की थी।

 

डोनाल्ड ट्रंप ने कंसास में मारे गए भारतीय की मौत की निंदा की

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App