ताज़ा खबर
 

जनगणना: पाकिस्तान की जनसंख्या में 57 फीसदी की वृद्धि, अब वहां हैं इतने करोड़ लोग

रिपोर्ट में कहा गया है कि सीसीआई एक संवैधानिक निकाय है। इसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री करते हैं और चार मुख्यमंत्री इसके सदस्य होते हैं।

Author Updated: August 26, 2017 3:05 PM
पांचवीं जनगणना के नतीजों से तुलना करने पर आबादी में 2.4 फीसदी की वार्षिक दर से 57 फीसदी की वृद्धि हुई है।

पाकिस्तान की आबादी वर्ष 1998 में हुई पिछली जनगणना के मुकाबले 57 फीसदी बढ़कर 20.78 करोड़ हो गई है। यह जानकारी कल जारी जनगणना के अस्थायी आंकड़ों में दी गई। काउन्सिल ऑफ कॉमन इंटरेस्ट (सीसीआई) को सौंपे गए अस्थायी आंकड़ों के अनुसार पाकिस्तान में 10 .645 करोड़ पुरुष, 10.131 करोड़ महिलाएं और 10 हजार 418 ट्रांसजेंडर हैं। पांचवीं जनगणना के नतीजों से तुलना करने पर आबादी में 2.4 फीसदी की वार्षिक दर से 57 फीसदी की वृद्धि हुई है। पाकिस्तान में 1998 में कराई गई जनगणना के अनुसार पाकिस्तान की आबादी 13.2 करोड़ से अधिक थी। ”द एक्सप्रेस ट्रिब्यून” की रिपोर्ट के अनुसार 6 वीं जनसंख्या और आवास जनगणना 2017 के अस्थायी सारांश परिणामों के मुताबिक, पाकिस्तान की आबादी बढ़कर 20.78 करोड़ हो गई है। 19 वर्षों के भीतर देश की आबादी में 7.54 करोड़ की वृद्धि हुई है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सीसीआई एक संवैधानिक निकाय है। इसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री करते हैं और चार मुख्यमंत्री इसके सदस्य होते हैं। सीसीआई ने आज जनगणना के अस्थायी आंकड़ों को मंजूरी दे दी। हालांकि, अंतिम नतीजे अगले साल उपलब्ध होंगे। पाकिस्तान ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स (पीबीएस) ने इस साल की शुरूआत में पाकिस्तान में तकरीबन दो दशकों के अंतराल के बाद छठी जनगणना कराई थी। इसमें खैबर पख्तूनख्वा, बलूचिस्तान और संघ प्रशासित कबायली क्षेत्र (फाटा) में जनसंख्या वृद्धि दर में बढ़ोतरी हुई है जबकि पंजाब और सिंध में पिछले नतीजों के मुकाबले जनसंख्या वृद्धि दर में गिरावट आई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ISIS ने काबुल में मस्जिद पर किया धमाका, 20 नमाज पढ़ रहे लोगों की मौत और 50 घायल
2 मेयर ने कहा: हमारे शहर में जो कोई अल्लाहु अकबर चिल्लाएगा, उसे गोली मार दी जाएगी
3 खतरे में 6 करोड़ पाकिस्‍तानियों की जान- कई अंतरराष्‍ट्रीय वैज्ञानिकों की स्‍टडी में चेतावनी
यह पढ़ा क्या?
X