ओलंपिक खेलों के मेजबान टोक्यो में कोरोना वायरस के 5,042 नए मामले, एक दिन में केसों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा

देश में कोरोनोवायरस फैलने के बावजूद ओलंपिक की मेजबानी करने पर जोर देने के लिए पीएम योसीहिदे सुगा की आलोचना की गई थी। उनका कहना है कि 23 जुलाई से 8 अगस्त के बीच खेलों से कोरोना केसों में तेजी आने का कोई सबूत नहीं है।

Tokya Olympic, Covid-19
टोक्यो ओलंपिक में कोरोनोवायरस के प्रसार से बचाव के लिए फेस मास्क पहने लोग। (एपी फोटो / कोजी ससाहारा)

ओलंपिक खेलों की मेजबानी कर रहे जापान की राजधानी में गुरुवार को कोरोना वायरस के 5,042 नए मामले दर्ज किये गये, जो इस महामारी के दौरान शहर के लिए सबसे बड़ा दैनिक आंकड़ा है। इन नये मामलों के बाद टोक्यो में कोरोना वायरस से संक्रमित होने वालों का कुल आंकड़ा 2,36,138 तक पहुंच गया। टोक्यो में ओलंपिक की शुरुआत से पहले 12 जुलाई से इमरजेंसी लागू है।

जापान में बुधवार को कोविड-19 संक्रमण के लगभग 14,000 नए मामले सामने आये, जिससे कुल संक्रमितों की संख्या 9,70,000 तक पहुंच गई। टोक्यो और आसपास के चार अन्य क्षेत्रों में जुलाई के मध्य से आपातकाल लागू है। जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा ने हालांकि इस बात को खारिज कर दिया है कि ओलंपिक के कारण कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ा है। प्रधानमंत्री योसीहिदे सुगा ने पहली बार टोक्यो के 5,000 से अधिक मामलों के नए रिकॉर्ड का जिक्र करते हुए संवाददाताओं से कहा, “हमें स्थिति से निपटने की जरूरत है क्योंकि अब हमारे पास स्थितियां गंभीर हो रही हैं। संक्रमण उस गति से बढ़ रहा है, जिसका हमने पहले कभी अनुभव नहीं किया था।”

सुगा, जिनकी देश में कोरोनोवायरस फैलने के बावजूद ओलंपिक की मेजबानी करने पर जोर देने के लिए आलोचना की गई थी, का कहना है कि 23 जुलाई से 8 अगस्त के बीच खेलों से कोरोना केसों में तेजी आने का कोई सबूत नहीं है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वे गर्मी की छुट्टी के बावजूद आपातकालीन निर्देशों पर मजबूती से पालन करते रहें और घर पर रहें।

इस बीच चीन में कोरोना वायरस के डेल्टा स्वरूप का प्रकोप बढ़ता दिख रहा है, जिसके चलते नेताओं को शहरों को बंद करने की रणनीति फिर से अपनानी पड़ रही है।

कोरोना वायरस के अत्यधिक संक्रामक डेल्टा स्वरूप के मामले बढ़ने के कारण अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और दुनिया की अन्य जगहों पर पाबंदियों को फिर से लगाया जा रहा है। राष्ट्रपति शी चिनफिंग की सरकार पिछले साल वुहान में कोरोना वायरस के मामले चरम पर पहुंचने के बाद वायरस के अब तक के सबसे गंभीर प्रकोप से जूझ रही है। सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी चीन में ‘बंद’ की रणनीति को फिर से अपना रही है। 15 लाख की आबादी वाले शहर में आवाजाही को बंद कर दिया गया है, उड़ानों को रद्द कर दिया गया और कुछ इलाकों में बड़े पैमाने पर जांच के आदेश दिए गए हैं।

(पीटीआई इनपुट के साथ)

पढें अंतरराष्ट्रीय समाचार (International News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।