ताज़ा खबर
 

यमन: आतंकवादी हमले में 4 भारतीय नर्सों समेत 16 की मौत, IS हो सकता है हमले के पीछे

सरकारी अधिकारी का कहना है कि हमलावर अतिवादी थे और खुद को इस्लामिक स्टेट ग्रुप का बता रहे थे। पिछले कुछ दिनों में अदन में इस्लामिक स्टेट की जड़े खासी मजबूत हुई हैं।

राष्ट्रपति प्रेसिडेंट अबेदरब्बो मंसूर हादी ने अदन को अस्थाई राजधानी घोषित कर रखा है क्योंकि सना पर हुथी बागियों ने सितंबर 2014 से कब्जा कर रखा है। (representative picture)

यमन के मुख्य दक्षिणी शहर अदन में एक वृद्धाश्रम में बंदूकधरियों की गोलीबारी में कम से कम 16 लोग की मौत हो गयी, जिसमें चार भारतीय नर्स शामिल हैं। अदन के शेख ओथमान जिले में स्थित वृद्धाश्रम में चार बंदूकधारी चौकीदार को गोली मारकर अंदर घुस गए और बेताहाशा गोलीबारी करने लगे। हमले के बाद वृद्धाश्रम में परिजनों की भीड लग गई। सरकारी अधिकारी का कहना है कि हमलावर अतिवादी थे और खुद को इस्लामिक स्टेट ग्रुप का बता रहे थे। पिछले कुछ दिनों में अदन में इस्लामिक स्टेट की जड़े खासी मजबूत हुई हैं।

यमन में इन दिनों अतंरारष्ट्रीय समर्थन प्राप्त सरकार ईरान समर्थक बागियों से युद्ध कर रही हैं वहीं दूसरी ओर अतिवादी जिहादियों का समूह भी देश में सक्रिय हो गया है। राष्ट्रपति प्रेसिडेंट अबेदरब्बो मंसूर हादी ने अदन को अस्थाई राजधानी घोषित कर रखा है क्योंकि सना पर हुथी बागियों का सितंबर 2014 से कब्जा कर रखा है। अलकायदा और आईएस ने हुथी के समर्थन में ऑपरेशन शुरू कर दिए हैं।

जिहादी ज्यादातर यमन की सेना को निशाना बना रहे हैं।। सोमवार को भी एक आत्मघाती हमले में अदन में चार लोगों की जान चली गई थी वहीं पांच लोग घायल हुए थे। दावा है कि सभी लोग सेना के समर्थक थे। इससे पहले 17 फरवरी को भी ऐेस ही एक हमले में आईएस ने 14 सैनिकों की जान ले ली थी। कुछ समय के लिए विद्रोहियों ने अदन पर कब्जा कर लिया था लेकिन उसके बाद सरकार समर्थको ने सेना के साथ मिलकर उन्हें पीछे खदेड़ दिया। अदन में जारी अस्थिरता को देखते हुए प्रेसिडेंट अबेदरब्बो मंसूर हादी अपने ज्यादातर मंत्रियों के साथ रियाद में समय गुजारते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App