ताज़ा खबर
 

काबुल में कई बम विस्फोट, तीन दर्जन लोगों की मौत, सैंकड़ों घायल

काबुल में हुए कई बम धमाकों में कम से कम 36 लोगों की मौत हो गई और सैंकड़ों लोग घायल हो गए। दिसंबर में नाटो सेनाओं के अभियान की...

Author August 8, 2015 2:47 PM
कार में घातक धमाके के बाद वहां मौजूद अफगान सैनिक। (एपी फोटो)

काबुल में कल हुए कई बम धमाकों में कम से कम 36 लोगों की मौत हो गई और सैंकड़ों लोग घायल हो गए। दिसंबर में नाटो सेनाओं के अभियान की समाप्ति के बाद से राजधानी का यह सबसे घातक दिन रहा है।

तालिबान नेता मुल्ला उमर की मौत की घोषणा के बाद काबुल में हुए इस पहले बड़े आतंकी हमले में हुए विस्फोटों के कारण इमारतें क्षतिग्रस्त हो गईं और अस्पतालों में हताहतों की भीड़ हो गई।

पहले हमले में एक शक्तिशाली ट्रक बम काबुल के मध्य में कल मध्यरात्रि के बाद फट गया। इस विस्फोट में 15 नागरिक मारे गए और 240 अन्य घायल हो गए।

24 घंटे से भी कम समय के बाद पुलिस की वर्दी में आए एक आत्मघाती हमलावर ने काबुल पुलिस एकेडमी के प्रवेश द्वारा पर खुद को उड़ा लिया कम से कम 20 अफगान कैडेट इस हमले में मारे गए।

तालिबान ने काबुल सैन्य बेस के पास हुए पहले बम विस्फोट से खुद को दूर रखा। बड़ी संख्या में नागरिकों की जान लेने वाले हमलों में वे आम तौर पर ऐसा ही करते हैं।

दूसरे हमले के बाद उग्रवादियों ने तत्काल जिम्मेदारी ली। यह हमला अफगान सुरक्षा बलों के प्रशिक्षण के प्राथमिक प्रशिक्षण संस्थान की सुरक्षा का एक गंभीर उल्लंघन था।

हवाई अड्डे के पास कैंप इंटेग्रिटी नामक बेस पर कल हमला हुआ। यह अमेरिकी विशेष बलों का आवासीय ठिकाना है। इस हमले में नाटो का एक सेवा सदस्य मारा गया, जिसकी राष्ट्रीयता का पता नहीं चल सका।

विस्फोटों के कुछ ही समय बाद मध्य काबुल के ऊपर उड़ते हुए सेना के विमानों की आवाजें सुनी गईं।
सुरक्षा विश्लेषक अब्दुल हादी खालिद ने कहा, ‘‘ये नए हमले तालिबान के नए नेतृत्व द्वारा यह दिखाने का तरीका है कि वे सक्षम हैं, प्रभावशाली हैं और सक्रिय हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुल्ला उमर की मौत ने आंदोलन को बांट दिया है और इससे जमीनी स्तर पर लड़ने वाले लड़ाकों का मनोबल गिरा है। काबुल पर शक्तिशाली हमले दरअसल उनकी ताकत दिखाने का एक तरीका है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App