ताज़ा खबर
 

घने जंगलों में तीन दिन तक रहा 3 साल का बच्चा, लोग कह रहे ‘मोगली ब्वॉय’

यह बच्चा इस दौरान सिर्फ अपने पास रखे चाकलेट खाकर ही जिंदा रहा लेकिन उसने समझदारी दिखाते हुए लार्क के वृक्ष के नीचे सूखी पत्तियों पर तीन दिन तक सोया रहा।

साइबेरिया की सर्द वादियों और घने जंगलों में तीन साल का बच्चा तीन दिन तक भूखे-प्यासे रहा।

जब तीन साल का कोई बच्चा जंगलों में खो जाय, जहां जानवरों का आतंक हो तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि उस बच्चे को ढूंढ़ना कितना मुश्किल काम रहा होगा। रूस के साइबेरिया की सर्द वादियों और घने जंगलों में खूंखार जानवरों के बीच तीन साल का एक बच्चा तीन दिनों तक भूखे-प्यासे फिल्मी किरदार मोगली की तरह घूमता रहा। सेरिन डोपचू नाम का यह बच्चा इस दौरान सिर्फ अपने पास रखे चाकलेट खाकर ही जिंदा रहा लेकिन उसने समझदारी दिखाते हुए लार्क के वृक्ष के नीचे सूखी पत्तियों पर तीन दिन तक सोया रहा। तुवा रिपबल्कि के पुलिसकर्मियों ने जब उस बच्चे को सही-सलामत ढूंढ़ निकाला तब उसकी खुशी का ठिकाना न रहा। तुवा रिपब्लिक के प्रमुख शोल्बन कारा उल ने खुद ब्लॉग पर लिखकर इसे शेयर किया, “हुर्रे…लिटिल सेरिन को सही-सलामत मिल गया।”

उनलोगों ने शुक्रवार की सुबह टैगा में खूट गांव से करीब तीन किलोमीटर दूर जंगलों में सेरिन को ढूंढ़ निकाला। तीन दिन पहले वह पी- खेमेस्की जिले में घर के पास अपने कुत्तों के साथ खेलते हुए जंगल में अचानक गायब हो गया था। आशंका जताई जा रही थी कि शायद वो किसी बड़े पप्पी के साथ खेलते हुए उसके पीछे-पीछे जंगलों में चला गया होगा। हालांकि जब वो खेल रहा था तब उसकी दादी उसकी निगरानी कर रही थी, बावजूद इसके वो वहां से कब और कैसे चला गया, किसी को पता नहीं चल पाया। गनीमत ये रही कि 72 घंटे के लंबे सर्च ऑपरेशन के बाद वो साइबेरियाई जंगलों से सही सलामत अब घर लौट आया है।

Read Also-VIDEO: चीन में अनूठा रेस्क्यू, बचावकर्मी ने उल्टे सिर 200 फीट गहरे कुएं में जाकर बच्चे को निकाला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App