ताज़ा खबर
 

पत्रकारों को भरपेट खिलाकर पाकिस्‍तानी आतंकी हाफिज सईद का ऐलान, 2018 में लड़ूंगा चुनाव

हाफिज सईद ने इसी साल अगस्त में अपने राजनीतिक संगठन मिल्ली मुस्लिम लीग (MML) का गठन किया है।

आतंकी हाफिज सईद ने पाकिस्तानी पत्रकारों को दावत दी और 2018 में चुनाव लड़ने का ऐलान किया। (फोटो-Twitter/Naila Inayat‏)

नजरबंदी से रिहा होने के बाद मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद अपने अगले एजेंडे पर बढ़ रहा है। हाफिज सईद ने शनिवार (2 दिसंबर) को ऐलान किया कि वह 2018 में पाकिस्तान के आम चुनाव में हिस्सा लेगा। पाकिस्तान की पीएमएल-एन सरकार का कार्यकाल 2018 में पूरा होने जा रहा है। 2 दिसंबर को जमात-उद-दावा के मुखिया हाफिज सईद ने लाहौर के चाबुर्गी में वरिष्ठ पत्रकारों के लिए एक शानदार दावत का आयोजन किया। इसके बाद संयुक्त राष्ट्र से आतंकी घोषित हाफिज सईद ने अपनी उम्मीदवारी का ऐलान किया। हाफिज सईद ने इसी साल अगस्त में अपने राजनीतिक संगठन मिल्ली मुस्लिम लीग (MML) का गठन किया है। हाफिज सईद ने अपने राजनीतिक संगठन को खड़ा करने की जिम्मेदारी अपने विश्वस्त सहयोगी सैफुल्लाह खालिद को दी थी। हाफिज सईद ने कहा कि वह MML के जरिये पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में जगह बनाना चाहेगा। बता दें कि हाफिज सईद इस साल 30  जनवरी से नजरबंद था। नजरबंदी से रिहा होने के बाद हाफिज ने अब संयुक्त राष्ट्र में अर्जी लगाई है और खुद के ऊपर से लगे आतंकी के ठप्पे को हटाने की मांग की है।

पाकिस्तान की अदालत ने 22 नवंबर को उसे नजरबंदी से रिहा कर दिया था। अदालत ने सईद को सबूतों के अभाव में नजरबंद करने की मियाद बढ़ाने की याचिका खारिज कर दी। पाकिस्तान की सरकार का कहना है कि आतंकी गतिविधियों में हाफिज सईद के शामिल होने के कोई सबूत नहीं हैं। जबकि भारत की ओर से मुंबई हमले में हाफिज सईद के शामिल होने के कई सबूत मुहैया कराये गये थे।

इधर अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने आज कहा कि उनका देश चाहता है कि पाकिस्तान ‘‘अपने बेहतर हित’’ में कदम उठाए और आतंकी पनाहगाहों के खिलाफ कार्रवाई करे। हाफिज सईद पर अमेरिकी सरकार ने आतंकी गतिविधियों में उसकी भागीदारी के लिए 10 मिलियन डॉलर का ईनाम रखा है।अमेरिका के रक्षा मंत्री के तौर पर मैटिस पहली बार पाकिस्तान जाने वाले हैं। उनकी चार देशों की यात्रा कल आरंभ हो चुकी है जिसके तहत उनका मिस्र, जार्डन, पाकिस्तान और कुवैत जाने का कार्यक्रम है। अपने दौरे में वह पश्चिम एशिया, पश्चिम अफ्रीका और दक्षिण एशिया में भागीदारी के लिए अमेरिका की प्रतिबद्धता दोहरायेंगे ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App