ताज़ा खबर
 

प्‍लेन में खिड़की वाली सीट पर सोई थी 16 साल की लड़की, उठी तो गलत जगह पर था अजनबी का हाथ

लड़की की ओर से अमेरिकी पुलिस में दर्ज की गई शिकायत के मुताबिक इस बार जब लड़की उठी तो उसने पाया कि वो शख्स उसे दबोचे हुए था।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

अमेरिका की यूनाइटेड एयरलाइंस में सफर कर रही 16 साल की एक लड़की के साथ बेहद ही शर्मनाक वाकया पेश आया है। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक ये लड़की प्लेन में खिड़की के किनारे वाली सीट पर सोई हुई थी। अचानक उसे एहसास हुआ कि उसके बगल में बैठे पैसेंजर का हाथ उसकी जांघों पर है। लड़की जैसै ही उठी इस शख्स ने अपना हाथ हटा लिया। ये लड़की फिर से सो गई। लड़की की ओर से अमेरिकी पुलिस में दर्ज की गई शिकायत के मुताबिक इस बार जब लड़की उठी तो उसने पाया कि वो शख्स उसे दबोचे हुए था। डर कर लड़की ने फ्लाइट अटेंडेंट से एक दूसरी सीट मांगी। सिएटेल से न्यू जर्सी जा रही ये फ्लाइट जह न्यूर्क लिबर्टी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लैंड की तो लड़की ने तुरंत अपने मम्मी-पापा को एयरपोर्ट पर बुलाया। लेकिन जब तक लड़की के माता-पिता एयरपोर्ट पहुंचे ये शख्स एयरपोर्ट से जा चुका था। यूनाइटेड एयरलाइंस के इस गैर जिम्मेदारी भरे रवैये से लड़की के माता-पिता ने भारी नाराजगी जताई। इसके बाद इस केस को एफबीआई ने अपने हाथ में लिया और फिर शुरू हुई आरोपी शख्स की खोज।

पीड़ित लड़की के वकील ने बताया कि एयरलाइंस द्वारा मुहैया कराये गये पैसेंजर लिस्ट से जल्द ही इस शख्स का पता चल गया, यही नहीं लड़की ने एक फोटो के जरिये इस शख्स को पहचान भी लिया। अमेरिकी पुलिस ने इस शख्स की पहचान विजयकुमार कृष्णप्पा के रुप में की है। पुलिस ने इस शख्स को गिरफ्तार कर लिया है और इस शख्स पर जानबूझकर एक नाबालिग से सेक्सुअल एक्टिविटी में लिप्त होने का आरोप लगाया है। हालांकि कृष्णप्पा को बेल पर छोड़ दिया गया है। लेकिन उसकी इलेक्ट्रानिक निगरानी की जा रही है। उसे हिदायत दी गई है कि वो पीड़िता से किसी भी तरह से संपर्क बनाने की कोशिश ना करे।

बता दें कि कृष्णप्पा एक महीने के मेडिकल फेलोशिप पर अमेरिका गया हुआ है। मेडिकल फेलोशिप के तहत विदेशी डॉक्टर अमेरिका आ सकते हैं और यहां के विशेषज्ञों से मेडिकल साइंस की नयी उपलब्धियों के बारे में जानकारी इकट्ठा कर सकते हैं। अभी ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आरोपी कृष्णप्पा किस देश का है। पीड़ित लड़की वाशिंगटन स्टेट की रहने वाली है और लीडरशिप प्रोग्राम के तहत प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में शिरकत करने आई थी। लड़की की मां का कहना है कि डॉक्टर होने के बावजूद पीड़ित का ऐसा करना बेहद ही शर्मनाक है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App