1500 Workers build Railway for a New Train Station in just Nine Hours - चीनी हुनर: वीडियो में देखें महज 9 घंटे में कैसे बिछा दीं पटरियां, शुरू हो गया रेलवे स्टेशन - Jansatta
ताज़ा खबर
 

चीनी हुनर: वीडियो में देखें महज 9 घंटे में कैसे बिछा दीं पटरियां, शुरू हो गया रेलवे स्टेशन

चीन के लोग बेहद हुनरमंद होते हैं। यह बात खुद उनका काम बयान करता है। शुक्रवार (19 जनवरी) को यहां के फुजियान प्रांत में एक नया रेलवे स्टेशन तैयार कर दिया। खास बात है कि यह स्टेशन महज नौ घंटों के भीतर बना कर चालू किया गया था। स्टेशन बनाने के काम में तकरीबन 1500 कर्मचारी लगाए गे थे।

चीन में 19 जनवरी को एक नया रेलवे स्टेशन तैयार किया गया। यह महज 9 घंटों में चालू किया गया। (फोटोः यूट्यूब)

चीन के लोग बेहद हुनरमंद होते हैं। यह बात खुद उनका काम बयान करता है। शुक्रवार (19 जनवरी) को यहां के फुजियान प्रांत में एक नया रेलवे स्टेशन तैयार कर दिया। खास बात है कि यह स्टेशन महज नौ घंटों के भीतर बना कर चालू किया गया था। स्टेशन बनाने के काम में तकरीबन 1500 कर्मचारी लगाए गे थे। एक सुपरवाइजर के अनुसार, इस काम को पूरा करने में सात ट्रेनें और 23 डिगर्स (खुदाई करने वाली मशीन) लगाई गई थीं। ‘पियर’ ने घटना से जुड़ा एक वीडियो जारी किया है, जिसमें एरियल व्यू (आसमान या ऊपर से) के जरिए दिखाया गया है कि कैसे आखिर तीन मुख्य रेल लाइनों (गैनलॉन्ग, गैनरुइलॉन्ग और जैंगलॉग रेलवे) को को नए नैनलॉन्ग रेलवे से जोड़ा गया। यही नहीं, इस काम के दौरान ट्रैफिक लाइटें और ट्रैफिक की निगरानी करने से जुड़े बाकी उपकरण भी लगाए गए। शिन्हुआ न्यूज एजेंसी की मानें तो यह नैनलॉन्ग स्टेशन यहां के लोंग्यान शहर में स्थित है। यह काम 19 जनवरी को शुरू किया गया था और देर रात तक इसे निपटा लिया गया।

स्टेशन बनाने के लिए 1500 कर्मचारी लगाए गए थे, जिन्हें सात ईकाइयों में बांटा गया था। (फोटोः यूट्यूब)

स्टेशन जल्दी इसलिए भी बना क्योंकि कर्मचारियों को विभिन्न प्रकार के काम करने के लिए सात अलग-अलग ईकाइयों में विभाजित किया गया था। हालांकि, इस रेलवे स्टेशन का कुछ काम अभी भी जारी है, जो साल 2018 के अंत तक निपटा लिया जाएगा।

स्थानीय समाचार एजेंसी के मुताबिक, रेलवे लाइन की लंबाई 246 किमी है और यह दक्षिणी पूर्वी चीन और मध्य चीन को जोड़ने का काम करेगी। अधिकतम 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ने वाली ट्रेनें इस रूट पर चलाई जा सकेंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App