ताज़ा खबर
 

Atal Bihari Vajpayee: …जब मजाक‍िया अंदाज में अटल जी ने जताई थी आडवाणी को पीएम बनाए जाने की ख्‍वाह‍िश

Atal Bihari Vajpayee: एक टीवी शो में उनसे पूछा गया क‍ि कहा जाता है क‍ि भाजपा में दो दल हैं- नरम दल और गरम दल। एक अटल का दल और एक आडवाणी का। तो इस पर उन्‍होंने जवाब द‍िया- जी नहीं, मैं क‍िसी दलदल में नहीं हूं। मैं तो औरों के दलदल में अपना कमल ख‍िलाता हूं।

Atal Bihari Vajpayee Health Live Update: अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी की जोड़ी सियासी गलियारे में हमेशा चर्चित रही है।

Atal Bihari Vajpayee News :  ब‍िहारी वाजपेयी की आवाज भले ही सालों से खामोश रही हो, लेक‍िन उसकी गूंज लोगों की संवेदनाओं को अब भी झकझोरने वाली है। हाजि‍रजवाबी, और वह भी चुटीले अंदाज में उनकी वाक् कला की ऐसी खास‍ियत थी, ज‍िसके कायल लोग हमेशा रहेंगे। जब गुजरात दंगों के दौरान अटल ब‍िहारी राज्‍य के दौरे पर गए थे, तो प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में पत्रकारों ने उनसे पूछा- आप चीफ म‍िन‍िस्‍टर को बचाने आए हैं या भाजपा की सरकार को बचाने आए हैं? उन्‍होंने जवाब द‍िया- मैं तो अपने आपको आपके सवालों से बचाने आया हूं। कश्‍मीर मसले पर एक बार मजाक‍िया अंदाज में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में उन्‍होंने कहा था क‍ि भारत और पाकस्तिान को साथ लाने का एक तरीका यह हो सकता है क‍ि दोनों देशों में स‍िंधी बोलने वाले प्रधानमंत्री हो जाएं। पाकस्तिान में तो हो गया, पर भारत में मेरी इच्‍छा पूरी होनी बाकी है। बता दें क‍ि उनका इशारा लालकृष्‍ण आडवाणी (जो स‍िंधी हैं) की ओर था।

उनके भाषण में जो तंज होता था, वह अपने आप में काफी कुछ कह देता था। एक बार सदन में प्रधानमंत्री इंद‍िरा गांधी ने कहा था क‍ि वह जनसंघ जैसे संगठन से पांच म‍िनट में न‍िपट सकती हैं। वाजपेयी की बोलने की बारी आई तो उन्‍होंने कहा- प्रधानमंत्री की यह भाषा कैसी है? यह लोकतांत्र‍िक कही जा सकती है क्‍या? वह पांच म‍िनट में अपने बाल नहीं संवार सकतीं और जनसंघ से न‍िपटने की बात करती हैं।

Atal Bihari Vajpayee Latest News Live Updates

एक बार अपनी चुनावी हार की चर्चा करते हुए उन्‍होंने कहा- मैं जब हार गया तो मैं रोने नहीं लगा क‍ि हाय अब मेरा क्‍या होगा, मैं तो मर गया…मैंने कहा- हार गया, कोई बात नहीं, फ‍िर अगली बार देखेंगे…। एक टीवी शो में उनसे पूछा गया क‍ि कहा जाता है क‍ि भाजपा में दो दल हैं- नरम दल और गरम दल। एक अटल का दल और एक आडवाणी का। तो इस पर उन्‍होंने जवाब द‍िया- जी नहीं, मैं क‍िसी दलदल में नहीं हूं। मैं तो औरों के दलदल में अपना कमल ख‍िलाता हूं।

देखें वीडियो :

वाजपेयी के कुछ चुटीले कोट्स देख‍िए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App