ताज़ा खबर
 

गुरुवार को इस तरह करें भगवान विष्णु की पूजा, जल्द हो सकता है विवाह

गुरुवार को बेसन के लड्डू का भोग भगवान शंकर को लगाएं।

माथे पर हल्दी का तिलक लगाएं और प्रसाद जरूर लें।

बृहस्पति ग्रह को सभी देवताओं का गुरु माना जाता है। गुरु वैवाहिक जीवन व भाग्य का कारक ग्रह है। गुरु ग्रह से जीवन में सकारात्मकता आती है। इससे जीवन में कठिन से कठिन आसानी से पूरे हो जाते हैं। गुरु कुंडली में हो तो इंसान सफल हो जाता है। इस ग्रह को नव ग्रहों में सबसे अधिक शुभ माना जाता है। गुरुवार के दिन पीली चीजों का दान करना, उन्हें खाना और धारण करना शुभ माना जाता है। बृहस्पति ग्रह की समस्या दूर करने के लिए गुरुवार को विशेष पूजा की जाती है। इसमें केला की पूजा का बहुत महत्व है। आज हम बताएंगे कि केला पेड़ पर क्या-क्या चढ़ाना चाहिए।

1. गुरुवार को सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और पीले कपड़े धारण करें। इसके बाद उपवास रखें।

2. बेसन के लड्डू का भोग भगवान शंकर को लगाएं।

3. पीले रंग की चीजें खाएं और व्रती बिना नमक के खाना खाएं। कोशिश करें की पीली चीजें ज्यादा खाएं। जैसे आम, केले।

4. भगवान की चौकी पर पीला वस्त्र बिछाकर इस पर गुरु बृहस्पति की मूर्ति रखकर पूजा करें।

5. भगवान विष्णु के सामने दीपक जलाकर विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें।

6. गुरुवार व्रत कथा पढ़ें। पूजा में केसरिया चंदन, पीले चावल, पीले फूल और बेसन के लड्डू का उपयोग करें।

7. माथे पर हल्दी का तिलक लगाएं और प्रसाद जरूर लें।

8. गुरु मंत्र का 108 बार जाप करें – ‘ऊँ बृं बृहस्पते नमः’।

9. पीले रंग की चीजों का दान करें। जैसे- आम, केले, चने की दाल, सोने जैसी पीली चीजें दान करें।

10. गाय को आटे की लोई में चने की दाल रखकर खिलाएं।

11. केले के पेड़ की पूजाजल में हल्दी और चने की दाल डालकर केले के पेड़ की जड़ पर चढ़ाएं।

12. गुरुवार की शाम घी का दीपक केले के पेड़ के नीचे जलाएं।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

First Published on November 8, 2017 3:43 pm