ताज़ा खबर
 

तुला राशिफल

जो तुला राशि वाले संयुक्‍त परिवार में रहते हैं, उन्‍हें सदस्‍यों के साथ आपसी सौहार्द की कमी झेलनी पड़ेगी। छोटे परिवार वालों को यह समस्‍या पेश नहीं आएगी। लेकिन उन्‍हें भी अपने जीवनसाथी पर शक करने से बचना होगा। बच्‍चों की वजह से थोड़ी परेशानी आ सकती है। नौकरीपेशा लोगों के लिए समय बेहतर है, […]

जो तुला राशि वाले संयुक्‍त परिवार में रहते हैं, उन्‍हें सदस्‍यों के साथ आपसी सौहार्द की कमी झेलनी पड़ेगी। छोटे परिवार वालों को यह समस्‍या पेश नहीं आएगी। लेकिन उन्‍हें भी अपने जीवनसाथी पर शक करने से बचना होगा। बच्‍चों की वजह से थोड़ी परेशानी आ सकती है। नौकरीपेशा लोगों के लिए समय बेहतर है, लेकिन क़ारोबारियों को कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। 11 अगस्त के बाद अच्छे दिन आएंगे। पर अचानक नया खर्च सामने आ सकता है। पैसों के लेन-देन में सावधानी बरतें। प्रेम-संबंधों में भी संयम बरतने की आवश्यकता है। जीवनसाथी के साथ ताल-मेल बिठाकर चलने की ज़रूरत है।

ग्रह दशा: 31 जनवरी तक शनि वृश्चिक के साथ एवं गुरू सिंह के साथ दिखाई दे रहे हैं। इसके बाद राहु सिंह में और केतु कुम्भ में प्रवेश करेंगे।

परिवार: परिवार के लोगों के बीच विचारों का अंतर बना रहेगा। परिवार में टूट भी देखने को मिल सकती है। अविश्वास की भावना से दूरियां बढ़ेंगी। जीवनसाथी के साथ कहा-सुनी हो सकती है, लेकिन माता-पिता के साथ संबंध अच्‍छे रहेंगे। निजी जिंदगी में मां की दखलअंदाजी बढ़ेगी, जो समस्‍या पैदा करेगी। ऐसी स्थिति पूरे साल रहने वाली है। संतान से बार-बार विवाद होने की संभावना है और उनकी सेहत को लेकर भी परेशानी हो सकती है।

सेहत: आँखों में परेशानी, सरदर्द, जोड़ों में दर्द जैसी कुछ समस्याएँ हो सकती हैं। पैरों की उचित देख-भाल करें। कुल मिला कर स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा रहेगा।

जेब: जेब हल्‍की होने का खतरा है। गलत निर्णय और गलत निवेश आर्थिक मुश्किल बढ़ा सकते हैं। इसलिए सावधान रहें। अहंकार और अति आत्‍मविश्‍वास से बचें

नौकरी: छठे भाव का गुरू, राहु-केतु के बीच फँसा हुआ है और इसके उपर शनि की दृष्टि भी है। यह पेरशानी पैदा करने वाली स्थिति है। लेकिन अच्छी बात यह है कि इस समय गुरू के ग्यारहवें भाव में होने के कारण ज़्यादा हानि नहीं होने वाली है। राहु और केतु जब तक क़रीब नहीं आ जाते, तब तक आपको ख़ुशियाँ मिलेगी। वरिष्ठों और सहकर्मियों का भरपूर सहयोग मिलेगा। सभी लोग आपके साथ कंधा-से-कंधा मिलाकर चलने के लिए तैयार रहेंगे। नई नौकरी मिल सकती है और सैलरी भी बढ़ सकती है। 11 अगस्त के बाद थोड़ा उल्‍टा वक्‍त देखना पड़ सकता है। इसलिए ज़्यादा सतर्क रहना होगा। दफ्तर में सभी लोगों के साथ शिष्टता से पेश आएँ और सकारात्मक रवैया अपनाएँ।

कारोबार: जमीन खरीद-बिक्री कर रहे हों तो चार लोगों की राय लेकर उचित फैसला लें। जल्‍दबाजी मत करें। उधार लेने से परहेज़ करें। दोस्त और अन्य लोग आपको धोखा दे सकते हैं। 11 अगस्त के बाद यदि आपके ऊपर गुरू की महादशा चल रही है तो भारी नुक़सान हो सकता है। नाहक खर्चे भी बढ़ सकते हैं।

प्‍यार: प्रेम-संबंधों से सुख नहीं मिलने वाला है। शादी में भी मुश्किल आएगी। प्‍यार के रिश्‍ते में काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। दोनों तरफ़ से विश्वास की कमी रह सकती है। सुझ-बुझ से काम लें और रिश्तों को बरक़रार रखने की हर-संभव कोशिश करें। किसी प्रकार के शक़ को पैदा न होने दें।

शारीरिक सुख: इस मामले में साल अच्‍छा रहेगा। पर शारीरिक सुख के मामले में संतुलन बना कर चलें।

उपाय: यदि सूर्य आपकी कुंडली में 6, 8 और 12 भावों से जुड़ी किसी भी मामलों में योगकारक न हो तथा 1, 2 और 11 भावों से में योगकार हो तो, ग्रहों के दुष्प्रभावों से बचने के लिए माणिक्य धारण करें। चंद्रमा से जुड़ी ऐसी ही गतिविधियों के लिए मोती पहनें। यदि शनि की दशा चल रही है तो प्रत्येक मंगलवार को हनुमान जी के मंदिर जाना न भूलें। सभी प्रकार की परेशानियों से बचने के लिए हनुमान चालीसा का पाठ करें।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

First Published on December 22, 2015 11:18 pm

More on this story