ताज़ा खबर
 

Basant Panchami 2018: 27 साल बाद बना ये शुभ संयोग, पूरी हो सकती है सभी की मनोकामनाएं

Basant Panchami 2018: पंच महायोग में मां सरस्वती की पूजा करने से साधकों को विशेष पुण्य मिलता है। इससे पहले यह योग साल 1991 में बना था। इस योग में मां सरस्वती और महाकाली की पूजा की जाती है।

Basant Panchami 2018: बसंत पंचमी के दिन ज्ञान, बुद्धि और कला की देवी सरस्वती का किया जाता है पूजन।

आज 22 जनवरी को देशभर में बसंत पंचमी का त्योहार बड़ी धूम धाम से मनाया जा रहा है। इस वर्ष बसंत पंचमी पर विशेष योग बन रहा है। इस दिन पंच महायोग का शुभ संयोग बन रहा है। पंच महायोग में मां सरस्वती की पूजा करने से साधकों को विशेष पुण्य मिलता है। इससे पहले यह योग साल 1991 में बना था। इस योग में मां सरस्वती और महाकाली की पूजा की जाती है। इस दिन शनि प्रधान उत्तराभाद्रपद नक्षत्र के संयोग से मां सरस्वती की पूजा अर्चना करना बहुत लाभकारी होगा। इस दिन उत्तराभाद्रपद नक्षत्र है और चंद्रमा मीन राशि में हैं जो कि गुरू प्रधान है तथा गुरू को विद्या का कारक ग्रह माना जाता है। इसलिए इस दिन पूजा करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है।

इस शुभ संयोग में विवाह के लिए बहुत लाभकारी साबित होगा। इस दिन सोना-चांदी, वाहन और प्रॉपर्टी खरीदना शुभ होता है। साथ ही इस संयोग में शादी करना बहुत अच्छा होता है। इस दिन अबूझ मुहूर्त होने से विवाह या कोई शुभ कार्य करना बहुत शुभ माना जाता है।

Basant Panchami 2018: बुद्धि की देवी मां सरस्वती के पूजन के साथ करें ये उपाय, मंगल कार्य होंगे पूरे

बसंत पंचमी से मौसम में बदलाव हो जाता है। पंचम तिथी का शुभ संयोग विद्या और बुद्धि के लिए बहुत लाभकारी माना जाता है। इस दिन उत्तर भारत में सरसों की कटाई भी शुरू हो जाती है। इस दिन पीले कपड़े धारण करने का विशेष महत्व है।

बसंत पंचमी 2018: परीक्षा में सफलता पाने के इच्छुक छात्र इस दिन विशेष रुप से करें माता सरस्वती का पूजन

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

First Published on January 22, 2018 12:11 pm