ताज़ा खबर
 

चाणक्य नीति: लालची, मूर्ख, अहंकारी और ज्ञानी लोगों को वश में करने का सही तरीका

लालची व्यक्ति जिसे सिर्फ किसी न किसी चीज का लालच रहता है। ऐसे लोगों के लालच की जो व्यक्ति पूर्ति करता है यह उसी के वश में हो जाते हैं। इसलिए ऐसे लोगों को पैसों से या फिर उनकी मनचाही चीजों को देकर प्रसन्न किया जा सकता है।

इन व्यक्तियों को वश में करने के लिए अपनाएं ये तरीके।

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिनसे आप ना तो दोस्ती करना चाहते हैं ना ही दुश्मनी। क्योंकि ऐसे लोगों का स्वभाव अच्छा नहीं होने के कारण इन लोगों का साथ किसी को पसंद नहीं होता है। तो वहीं कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनके साथ आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता हैऔर जिन्हें प्रसन्न करने के लिए आप कोशिश भी करते हैं। महान नीतिज्ञ आचार्य चाणक्य ने ऐसे ही कुछ लोगों को अपने वश में करने का तरीका बताया है। जिसे अपनाकर यह लोग अनजाने में ही सही आपके वश में आ सकते हैं…

– लालची व्यक्ति जिसे सिर्फ किसी न किसी चीज का लालच रहता है। ऐसे लोगों के लालच की जो व्यक्ति पूर्ति करता है यह उसी के वश में हो जाते हैं। इसलिए ऐसे लोगों को पैसों से या फिर उनकी मनचाही चीजों को देकर प्रसन्न किया जा सकता है।

– अहंकार में डूबा हुआ व्यक्ति अपने बारे में सदैव अच्छा ही सुनना चाहता है। उसकी चाहत होती है कि हर कोई उसकी तारीफ करे और उसे सम्मान दे। इसलिए ऐसे लोगों को सम्मान देकर आसानी से अपने वश में किया जा सकता है।

– मूर्ख व्यक्ति हमेशा अपने गुणगान सुनना चाहता है उसे किसी की भी बात सुनना पसंद नहीं होता है। इसलिए ऐसे लोगों की हमेशा तारीफ करते रहना चाहिए। जिससे यह लोग आपकी हर बात को मानने पर मजबूर हो जाएं।

– ज्ञानी व्यक्ति को वश में करने का बस एक ही तरीका होता है कि आप भी उसकी तरह ज्ञान की बातें करें। क्योंकि एक बुद्धिमान व्यक्ति सिर्फ अपने जैसे तेज बुद्धि वाले इंसान को ही काफी पसंद करता है।

– आचार्य चाणक्य ने यह भी कहा है कि कभी भी ऐसे लोगों से मित्रता नहीं करनी चाहिए जो आपके सामने आपकी तारीफ करें और आपके पीछे आपकी बुराई। ऐसे लोग आपके सबसे बड़े दुश्मन साबित होते हैं।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और लिंक्ड इन पर जुड़ें

First Published on May 16, 2019 3:50 pm

More on this story