ताज़ा खबर
 

वास्तु शास्त्र: घर का मेन गेट नहीं होना चाहिए काला, जानिए घर खरीदते समय और किन बातों का रखें ध्यान

घर खरीदते समय इस बात का ध्यान रखें कि उस घर में सूरज की रोशनी जरूर आनी चाहिए। वास्तु अनुसार जिस घर में सूर्य की रोशनी नहीं आती है उस घर के लोग अस्वस्थ रहने के साथ-साथ परिवार में कलह बना रहता है।

जानें वास्तु अनुसार घर खरीदते समय किन बातों का रखें ध्यान।

वास्तु शास्त्र पर कई लोगों का विश्वास देखा गया है। आज के समय में बहुत से लोग अपना घर या ऑफिस बनवाते समय वास्तु पर विशेष ध्यान देते हैं। कहा जाता है कि अगर घर का वास्तु सही नहीं है तो व्यक्ति को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। खराब वास्तु घर में नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने के साथ-साथ परिवार के सदस्यों में कलह तक करवा देता है। इसलिए वास्तु शास्त्र में ऐसी कुछ बाते बताई गई हैं जिन्हें घर खरीदते समय ध्यान रखने की जरूरत होती है..

– घर खरीदते समय इस बात का ध्यान रखें कि उस घर में सूरज की रोशनी जरूर आनी चाहिए।वास्तु अनुसार जिस घर में सूर्य की रोशनी नहीं आती है उस घर के लोग अस्वस्थ रहने के साथ-साथ परिवार में कलह बना रहता है।

– सूरज की रोशनी के बाद यह भी ध्यान रखना चाहिए कि घर में वेंटिलेशन अच्छा हो।

– वास्तु अनुसार अगर आपके मकान का नंबर आपके मूलांक से मिलता जुलता होगा तो आपके लिए वह घर काफी लाभकारी साबित हो सकता है।

– बहुत से लोग नए घर की पूजा दिन में किसी भी समय कर लेते हैं। लेकिन वास्तु में गृह प्रवेश की पूजा का सबसे शुभ समय प्रात काल माना गया है।

– घर के मुख्य दरवाजे का रंग कभी भी काला नहीं होना चाहिए। इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा आती है।

– बाथरूम का घर के बीच में या मुख्य दरवाजे पर होना अशुभ माना जाता है।

– घर की बालकानी का उत्तर या पूर्व दिशा में होना शुभ होता है।

– घर खरीदते या बनवाते समय इस बात की भी ध्यान रखें कि घर की रसोई कभी भी  ईशानकोण में ना हो।

– घर के मुख्य दरवाजे का अंदर की तरफ खुलना अच्छा माना जाता है।

– घर में बिजली के स्विचबोर्ड दक्षिण पूर्व की दिशा में होना शुभ माना गया है।

– मंदिर कभी भी शयनकक्ष में नहीं बनाना चाहिए। साथ ही मंदिर के लिए शुभ दिशा उत्तर पूर्व है।

– वास्तु अनुसार घर के सामने मंदिर या कोई बिजली का खंबा नहीं होना चाहिए।

– घर का वर्गाकार या आयताकार होना अच्छा माना गया है।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और लिंक्ड इन पर जुड़ें

First Published on May 9, 2019 2:36 pm

More on this story

X