ताज़ा खबर
 

मेष राशिफल 2016

घर-गृहस्थी को लेकर थोड़ा तनाव हो सकता है। लेकिन नौकरी, कारोबार में कामयाबी मिलेगी। हालांकि, कामयाबी आसानी से नहीं मिलेगी। खुशियां आएंगी, पर किश्‍तों में। कारोबार करते हों तो नया निवेश करने के लिए इंतजार करना ठीक रहेगा। शेयर बाजार से दूरी बेहतर रहेगी। फिजूलखर्ची पर लगाम लगाना होगा। प्‍यार में कामयाबी और शारीरिक सुख […]

घर-गृहस्थी को लेकर थोड़ा तनाव हो सकता है। लेकिन नौकरी, कारोबार में कामयाबी मिलेगी। हालांकि, कामयाबी आसानी से नहीं मिलेगी। खुशियां आएंगी, पर किश्‍तों में। कारोबार करते हों तो नया निवेश करने के लिए इंतजार करना ठीक रहेगा। शेयर बाजार से दूरी बेहतर रहेगी। फिजूलखर्ची पर लगाम लगाना होगा। प्‍यार में कामयाबी और शारीरिक सुख आसानी से नहीं मिलेगी। गुस्‍से पर काबू रखना फायदेमंद रहेगा। आठवें महीने (अगस्‍त) से जिंदगी ज्‍यादा खुशगवार होगी। पर इसके बावजूद सावधानी बरतते रहना फायदेमंद रहेगा।

ग्रह दशा: साल के शुरू में शनि वृश्चिक में और गुरु सिंह में प्रवेश कर रहे हैं। राहु और केतु 31 जनवरी तक मौजूदा जगह पर रहेंगे। इसके बाद राहु सिंह में और केतु का प्रेवश कुम्भ में होगा।

परिवार: आपके सातवें भाव में पाप कर्तरी योग बनने के चलते पारिवारिक जीवन में परेशानी रहेगी। धीरज और सतर्कता आपके लिए काफी मददगार होगी। आपका अचानक गुस्‍सा जाना और जल्दी शांत नहीं होना पारिवारिक जीवन को अशांत बनाएगा। मां के साथ संबंध पूरे साल अच्‍छे रहेंगे। जब चंद्रमा सिंह, वृश्चिक या कुम्भ में प्रवेश करेगा तब पिता के साथ थोड़ी अनबन हो सकती है। बच्चों के साथ भी कुछ अनबन हो सकती है। थोड़ी सावधानी बरत कर और विवाद बढ़ाने से परहेज कर आप इस दौर को शांतिपूर्वक गुजार सकते हैं। बच्‍चों की सेहत से जुड़ी समस्‍याओं से दो-चार होना पड़ सकता है।

सेहत: अगस्त तक तो सेहत से जुड़ी समस्‍याएं आपसे दूर रहेंगी। बाद में पेट-संबंधी कुछ दिक्‍कतें, जैसे – बदहज़मी, यौन समस्या, जोड़ों में दर्द और शरीर के निचले हिस्सों में परेशानी हो सकती है। अगस्त के बाद सेहत को लेकर विशेष रूप से सतर्क रहें।

जेब: शेयर बाज़ार से दूरी रखना फायदेमंद रहेगा। कहीं निवेश करने से पहले खूब सोच-विचार लें। अगस्त के बाद माली हालत थोड़ी सुधरेगी, पर खर्च में सावधानी फिर भी बरतनी होगी।

नौकरी: आपके दसवें भाव का स्वामी आठवें भाव में बैठा है, यह ग्यारहवें भाव का भी स्वामी है, लेकिन ग्यारहवें भाव में केतु बैठा है। इसलिए अपना काम करने में कोताही मत करें, परिणा देर-सबेर मिलेगा। नतीजे पाने के लिए अधीर नहीं हों। अगस्त आते ही परेशानियां कम होंगी, सुकून बढ़ता। हालांकि, ग्रह दशा ऐसी होगी कि सफलता को लेकर कुछ नहीं कहा जा सकता। अगस्‍त के बाद गुरू की दृष्टि धनु पर होने वाली है और गुरू का राहु के साथ मेल हो रहा है। इसलिए आपके लिए फल की चिंता किए बिना कर्म करना सबसे जरूरी है।

कारोबार: साल मिला-जुला रहेगा। प्रयास मत छोड़िए। पैसा आता रहेगा। अगर बैंकिंग आदि से जुड़ा कारोबार है तो थोड़ा नुकसान हो सकता है। लेकिन अगस्‍त के बाद स्थितियां बदलेंगी।

प्‍यार: प्‍यार में कामयाबी आसानी से नहीं मिलेगी। बगावत कर प्‍यार को परवान चढ़ा सकते हैं, पर उससे छवि खराब होने का खतरा रहेगा। अगस्त के बाद प्रेमी या प्रेमिका से रिश्‍ते अच्‍छे होंगे। लेकिन क्रोध पर काबू रखना होगा, वरना रिश्तों में दरार आ सकती है।

शारीरिक सुख: तनाव और ज्‍यादा काम के चलते शारीरिक सुख में बाधा पहुंचने के संकेत हैं। कमजोरी और थकान भी यौन सुख पाने में बाधक बनेगी। जीवनसाथी के साथ अच्‍छा तालमेल बनाएं और ज्‍यादा से ज्‍यादा समय बिताने की कोशिश करें।

उपाय: दिन में दो बार हनुमान चालीसा पढ़ें। संभव हो तो नियमित रुप से कनकधारा स्त्रोत और श्रीसुक्त का पाठ करें। घर में सुख-शांति के लिए साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

First Published on December 22, 2015 9:41 pm

More on this story