ताज़ा खबर
 

ज्योतिष शास्त्र: जानिए किन गहनों के खोने से क्या होता है नुकसान

दायें पैर की पायल खोने से समाज में मान प्रतिष्ठा कम होती है। बाएं पैर की पायल खोने से भविष्य में की जाने वाली यात्रा में किसी दुर्घटना का संकेत मिलता है। बिछिया का खोना पति के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना गया है।

बिछिया का खोना पति के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना गया है।

गहने पहनने का शौक किसे नहीं होता है। खासकर सोने और चांदी से बने गहने। वैसे तो हर व्यक्ति अपने कीमती गहनों को संभालकर रखता है लेकिन फिर भी कई बार कुछ लापरवाही के कारण व्यक्ति इन गहनों को खो देता है या फिर यह चोरी हो जाते हैं। गहनों का खोना ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अशुभ माना जाता है। साथ ही सोने या चांदी से बने गहनों का प्राप्त होना भी अच्छा नहीं माना गया है। सोने को गुरु ग्रह से जोड़कर देखा जाता है इसलिए इसके खोने या मिलने से गुरु ग्रह पर प्रभाव पड़ता है। खासकर महिलाओं को गुरु ग्रह ज्यादा प्रभावित करता है।

यदि किसी के कान का सोने या चांदी का झुमका खो जाता है तो यह किसी बुरी चीज के घटित होने का संकेत देता है। इसलिए इसे ढूंढने की कोशिश करनी चाहिए। क्योंकि इसका नकारात्मक प्रभाव गुरु ग्रह पर पड़ सकता है। नाक की लौंग के खो जाने से अपमानित होना पड़ सकता है। साथ ही इससे बुध ग्रह भी खराब होता है। सिर का गहना यानी मांग टीका खो जाने से उधारी बढ़ सकती है। साथ ही मानसिक परेशानी भी झेलनी पड़ती है। अगर किसी व्यक्ति की गले की चेन या फिर हार खो जाता है तो उसके ऐश्वर्य में कमी आती है। यानी की उस व्यक्ति की समाज में मान-प्रतिष्ठा कम होती है। बाजूबंद के खो जाने से पैसों से जुड़ी दिक्कतें आती हैं। और अगर किसी नई नवेली दुल्हन का यह गहना खो जाता है तो यह उसे जीवन में आने वाली आर्थिक तंगी का संकेत देता है।

इसी तरह से सोने या चांदी की अंगूठी का खो जाना भी अच्छा नहीं माना गया है इससे स्वास्थ्य संबंधी परेशानी झेलनी पड़ सकती है। कमरबंद का खोना किसी भारी विपदा के आने का संकट देता है। दायें पैर की पायल खोने से समाज में मान प्रतिष्ठा कम होती है। बाएं पैर की पायल खोने से भविष्य में की जाने वाली यात्रा में किसी दुर्घटना का संकेत मिलता है। बिछिया का खोना पति के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना गया है। साथ ही पति की आर्थिक स्थिति भी खराब हो सकती है।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और लिंक्ड इन पर जुड़ें

First Published on May 22, 2019 1:43 pm

More on this story

X