ताज़ा खबर
 

कुंडली के ग्रह दोष खत्म करता है मोर पंख, घर में इस तरह करें प्रयोग

पक्षी शास्त्र में मोर और गरुड़ के पखों का विशेष महत्व बताया गया है।

घर में रखें मोर पंख, दूर रहेंगे भूत-प्रेत।

हिंदू धर्म में मोर पंख का बहुत महत्व है। इसे भगवान श्रीकृष्ण का प्रिय माना जाता है। शास्त्रों के मुताबिक मोर पंख में सभी देवी-देवताओं और नौ ग्रहों का वास होता है। पक्षी शास्त्र में मोर और गरुड़ के पखों का विशेष महत्व बताया गया है। माना जाता है कि प्राचीन काल में एक मोर के माध्यम से देवताओं ने संध्या नाम के असुर का वध किया था घर में मोर पंख को स्थापित करने से सभी वास्तु दोष दूर हो जाते हैं। आइए जानते हैं मोर पंख के बारे में विशेष बातें-

सूर्य के उपाय के लिए – रविवार को 9 मोर पंख लेकर उन्हें मैरून धागे से बांधें। इसके बाद थाली में मोर पंख सजाकर 9 सुपारियां रखें और गंगाजल छिड़कते हुए 21 बार इस मंत्र ‘ऊँ सूर्याय नमः जाग्रय स्थापय स्वाहा:’ का जाप करें। इसके साथ ही 2 नारियल सूर्य देव को अर्पित करें।

चंद्र दोष – सोमवार को 8 मोर पंख लेकर सफेद धागे से बांधे। इसके बाद एक थाली में 8 सुपारियां लें और गंगाजल छिड़कते हुए 21 बार ‘ऊं सोमाय नमः जाग्रय स्थापय स्वाहा:’ मंत्र का जाप करें। इसके साथ 5 पान के पत्ते चंद्रमा को अर्पित करें। ऐसा करने से चंद्र दोष दूर हो जाते हैं।

नौ ग्रह दोष – कुंडली में ग्रह दोष परेशान कर रहें हैं तो 21 मोर पंख को नीचे बांधकर मंत्र का जाप करते हुए घर में पानी के छीटें दें। इसके बाद मोर पंखों को घर में किसी अच्छे स्थान पर रख दें। ऐसा करने से कुंडली के ग्रह शांत हो जाते हैं।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

First Published on November 1, 2017 2:56 pm

  1. No Comments.