Do this before sunset, worship of Mother Saraswati, can be found special grace - सूर्यास्त से पहले इस तरह करें मां सरस्वती की पूजा, मिल सकती है विशेष कृपा - Jansatta
ताज़ा खबर
 

सूर्यास्त से पहले इस तरह करें मां सरस्वती की पूजा, मिल सकती है विशेष कृपा

बसंत पंचमी के दिन जीवन में सफलता पाने के लिए और अज्ञानता को दूर करने के लिए मां सरस्वती को पूजा जाता है।

Basant Panchami 2018: माघ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी का पर्व मनाया जाता है।

आज 22 जनवरी को पूरे भारत में बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जा रहा है। माना जाता है इस दिन मां सरस्वती का जन्म हुआ था। इसलिए आज के दिन मां सरस्वती की पूजा की जाती है। बसंत पंचमी के दिन पूजा करने से मां सरस्वती की कृपा मिलती है तथा वह इंसान कुशाग्र बुद्धि पाता है। मां सरस्वती को ज्ञान-विज्ञान, कला, संगीत की देवी कहा जाता हैं। बसंत पंचमी के दिन जीवन में सफलता पाने के लिए और अज्ञानता को दूर करने के लिए मां सरस्वती को पूजा जाता है। मां सरस्वती की कृपा से दिमाग तेज चलता है तथा धन संबंधी निर्णय सही होते हैं। आइए जानते हैं इस दिन कौन से काम करने चाहिए।

इस तरह करें मां सरस्वती की पूजा – आज सुबह जल्दी स्नान करके पीले या सफेद रंग के वस्त्र धारण करें। मां सरस्वती की प्रतिमा ईशान कोण में स्थापित करें। इसके बाद मां को सफेद चंदन, पीले और सफेद फूल चढ़ाएं। इसके बाद सरस्वती मंत्र ऊँ ऐं सरस्वत्यै नम: का जाप करें। पूजा के बाद पंचामृत प्रसाद बनाएं और भोग लगाएं।

बसंत पंचमी पर जरूर करें ये काम

1. जिन लोगों की कुंडली में बुध कमजोर होता है तथा जिनका पढ़ाई में मन नहीं लगता उनको मां सरस्वती की पूजा करनी चाहिए तथा फल चढ़ाने चाहिए।

2. अच्छी स्मरण शक्ति पाने के लिए स्टूडेंट्स को अपने पढ़ाई वाले कमरे में मां सरस्वती की तस्वीर लगानी चाहिए।

3. तुलसी के 11 पत्ते मिश्री के साथ लें। इस बात का ध्यान रखें कभी तुलसी के पत्ते चबाएं नहीं।

4. पढ़ाई की टेबल पर क्रिस्टल का ग्लोब रखें और उसे दिन 3 बार घुमाएं।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

First Published on January 22, 2018 3:59 pm