ताज़ा खबर
 

महिलाओं का बाल खोलकर रखना दे सकता है दुर्भाग्य को न्योता, जानिए कंघी गिरने का अर्थ

कहा जाता है खुले बाल रखने से नेगेटिव एनर्जी सक्रिय हो जाती है और कुछ बुरा होने का डर बना रहता है।

प्रतीकात्मक चित्र

शास्त्रों में महिलाओं के बालों से जुड़ी अनेक मान्यताएं हैं। माना जाता है महिलाओं को बालों का बांधकर रखना चाहिए, इनको खोलकर रखना अशुभ होता है। महिलाओं के बालों से जुड़ी अनेक मान्यताएं हैं, जिन्हें आज लोग अंधविश्वास मानते हैं। केश महिलाओं का श्रृंगार होते हैं जो उनकी खूबसूरती प्रदान करते हैं। पहले महिलाएं किसी खास अवसर पर ही बाल खोलती थीं, अधिकतर उन्हें बांध कर रखा जाता था क्योंकि खुले बाल रखना शोक की निशानी माना जाता है।

आज भी हिंदू धर्म में शुभ कार्यों के दौरान महिलाएं अपने बालों को बांधकर रखती हैं। मंदिर में भी खुले बाल रखना अशुभ माना जाता है। आज हम महिलाओं के बालों से संबंधित ऐसी बातें बताने जा रहे हैं, जिनका महिलाएं अपनी लाइफ में अक्सर सामना करती हैं। लेकिन वह इन बातों पर ध्यान नहीं देती है।

शास्त्रों के मुताबिक बाल में कंघी करते समय कंघी का गिरना कुछ बुरा होने का संकेत होता है। इससे कुछ अनिष्ट होने का भय रहता है। इसके साथ ही टूटे बालों के गुच्छे घर में बिखरे रहना परिवार में कलह पैदा करता है। इसके साथ ही महिलाओं को बाल बांधकर रखने चाहिए। माना जाता है बंधे बाल बंधन में रहना सिखाते हैं। केवल एकांत में होने पर इनको खोल सकते हैं। पुराणों में रात को सोने से पहले बाल खोलना दुर्भाग्य को बुलावा देने के समान माना जाता है। कहा जाता है खुले बाल रखने से नेगेटिव एनर्जी सक्रिय हो जाती है और कुछ बुरा होने का डर बना रहता है।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

First Published on December 12, 2017 1:51 pm

  1. No Comments.