ताज़ा खबर
 

07 दिसंबर को गुरु-पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग, दूर हो सकती धन की कमी

गुरु पुष्य नक्षत्र में खरीददारी करना बहुत शुभ माना जाता है।

गुरु पुष्य-नक्षत्र को सभी नक्षत्रों का राजा माना जाता है।

इस साल 7 दिसंबर को गुरु पुष्य नक्षत्र है। गुरु पुष्य-नक्षत्र को सभी नक्षत्रों का राजा माना जाता है। कहा जाता है गुरु पुष्य नक्षत्र में कोई इंसान जन्म लेता है तो वह प्रकाण्ड विद्वान माना जाता है। कहा जाता है कि भगवान राम का जन्म पुष्य-नक्षत्र में हुआ था। माना जाता है कि गुरु पुष्य-नक्षत्र में शुरू किया गया काम सफल हो जाता है।

गुरु पुष्य नक्षत्र में खरीददारी करना बहुत शुभ माना जाता है। इस दौरान गाड़ी, घर, जमीन खरीदना शुभ माना जाता है। अगर पुष्य नक्षत्र रविवार या गुरुवार के दिन हो तो यह बेहद शुभदायक माना जाता है। इस शुभ संयोग को रवि पुष्य और गुरु पुष्य कहा जाता है। पुष्य एक अन्ध नक्षत्र है। पुष्य-नक्षत्र में खोई हुई वस्तु शीघ्र प्राप्त हो जाती है।

गुरु पुष्य नक्षत्र को शुभ तो माना ही जाता है लेकिन इसको थोड़ा अशुभ भी माना जाता है। जब पुष्य नक्षत्र शुक्रवार के दिन आता है तब यह उत्पात व बाधाकारक होता है। विवाह में भी पुष्य नक्षत्र को अशुभ माना गया है। विवाह लग्न के लिए पुष्य नक्षत्र अशुभ माना जाता है।

उपाय – इस दिन अपने पूजा स्थान में पूर्व दिशा में ओर मुंह करके बैठ जाएं और साफ बर्तन में 7 लौंग फूल सहित, 7 कपूर की टिकिया रख दें। मां गायत्री का ध्यान करते हुए कपूर और लौंग को जला लें। साथ ही गायत्री मंत्र का जाप करते रहें। फिर तिलक लगा लें। धन प्राप्ति में सफलता जरूर मिलेगी।

ये कार्य करने होंगे शुभ – गुरु पुष्य नक्षत्र के दिन किसी भी नए काम को शुरू किया जा सकता है। इस दिन वाहन खरीद लाभकारी माना जाता है। गुरु नक्षत्र में गोल्ड खरीदना अच्छा होता है। इस दिन गूलर की जड़ को सिद्ध कर स्वर्ण ताबीज में धारण करना लाभदायक रहता है। इसके साथ इस दिन चमेली की जड़ को सिद्ध कर प्रयोग करना लाभदायक रहता है।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

First Published on December 4, 2017 5:30 pm

  1. No Comments.