scorecardresearch

Aaj Ka Panchang (आज का पंचांग) 19 August 2022: आज कालाष्टमी व्रत और श्रीकृष्ण जन्माष्टमी व्रत, जानें शुक्रवार के दिन कब रहेगा शुभ मुहूर्त और राहुकाल

Today Panchang 19 August Friday Aaj Ka Panchang in Hindi: पंचांग की मदद से हम दिन के हर बेला के शुभ और अशुभ समय का पता लगाते हैं। उसके आधार पर अपने खास कर्मों को इंगित करते हैं। देखिए आज का पंचांग…

Aaj Ka Panchang (आज का पंचांग) 19 August 2022: आज कालाष्टमी व्रत और श्रीकृष्ण जन्माष्टमी व्रत, जानें शुक्रवार के दिन कब रहेगा शुभ मुहूर्त और राहुकाल
आज का पंचांग- 19-08-2022

Aaj Ka Panchang 19 August Daily Hindi Panchang: 19 अगस्त का पंचांग: ज्योतिष में पंचांग का बहुत महत्व है। पंचांग ज्योतिष के पांच भागों का योग है। जिसमें तिथि, वार, कर्ण, योग और नक्षत्र का उल्लेख है। आज भाद्रपद कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि और शुक्रवार का दिन है। अष्टमी तिथि आज रात 10 बजकर 59 मिनट तक रहेगी। आज रात 9 बजे तक ध्रुव योग रहेगा। साथ ही आज देर रात 1 बजकर 53 मिनट तक कृत्तिका नक्षत्र रहेगा। आज कालाष्टमी व्रत और श्रीकृष्ण जन्माष्टमी व्रत है। जानिए शुक्रवार का पंचांग,राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय-

आज का पंचांग शुक्रवार, 19 अगस्त 2022

तिथि : अष्टमी, 23:02 तक
नक्षत्र : कृतिका, 25:53 तक
योग : ध्रुव, 20:56 तक
प्रथम करण : बालव, 10:08 तक
द्वितीय करण : कौलव, 23:02 तक
वार : शुक्रवार
दिन : शुक्रवार

हिन्दू मास एवं वर्ष
शक संवत् : 1944
विक्रम संवत् : 2079
माह-अमान्ता : श्रावण
माह-पुर्निमान्ता : भाद्रपद
ऋतु : वर्षा

सूर्य एवं चन्द्र गणना

सूर्योदय- सूर्यास्त : 05:51:43 AM 06:56:48 PM
चंद्र उदय- चन्द्रास्त : 11:40:04 PM 12:58:06 PM
चंद्र राशि: वृष

आज का अशुभ मुहूर्त

राहु कालं : 10:46:008 AM to 12:24:16 PM
यंमघन्त कालं : 03:40:32 PM to 05:18:40 PM
गुलिकालं : 07:29:52 AM to 09:08:000 AM

आज का शुभ मुहूर्त

अभिजीत मुहूर्त : 11:58:00 AM to 12:50:00 PM

आज का दिशाशूल : ज्योतिषशास्त्र के नियम के अनुसार रविवार और शुक्रवार को पश्चिम दिशा में दिशाशूल लगता है। दिशाशूल का अर्थ है संबंधित दिशा में बाधा और कष्ट प्राप्त होना। इसलिए शुक्रवार एवं रविवार को पूर्व दिशा में यात्रा नहीं करनी चाहिए।

आज का विशेष उपाय : आज लोग शुक्रवार का व्रत रखकर मां लक्ष्मी जी की पूजा करते हैं। आज बहुत पावन व्रत है। शुक्रवार की रात को अष्ट लक्ष्मी का पूजन करना चाहिए। उनके समक्ष अगरबत्ती जलाएं और गुलाब के फूल अर्पित करें। मां अष्ट लक्ष्मी को लाल माला चढ़ानी शुभ होती है। यदि आप धन की समस्या से जूझ रहे हैं तो शुक्रवार की रात को ‘ऐं ह्रीं श्रीं अष्टलक्ष्मीयै ह्रीं सिद्धये मम गृहे आगच्छागच्छ नम: स्वाहा’ मंत्र का जाप 108 बार करें।

पढें horoscope (Horoscope News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.