ताज़ा खबर
 

होने जा रहा है राहु-केतु का राशि परिवर्तन, जानिये क्या पड़ेगा सभी राशियों पर इसका प्रभाव

Rahu-Ketu Gochar: तुला: राहु का वक्री होना जहां भाग्योदय के योग बना रहा है वहीं, केतु गोचर उसे प्रभावित कर रहा है

rahu ketu, rahu ketu transit 2020, rahu ketu transit 2020 in hindi, rahu ketu gochar 2020मेष: यह गोचर मेष राशि के लोगों के लिए शुभ परिणाम लाएगा

Rahu-Ketu Transit 2020: 23 सितंबर 2020 को राहु और केतु ग्रह का गोचर होने वाला है। इस दिन राहु वक्री होकर मिथुन से वृषभ राशि में जाएगा। साथ ही केतु धनु से वृश्चिक राशि में परिवर्तन कर रहा है। राहु ग्रह जहां इस दिन सुबह 5 बजकर 28 मिनट पर वृष राशि में प्रवेश करेगा, वहीं, केतु सुबह 7 बजकर 38 मिनट पर वृश्चिक राशि में होगा। इन राशियों में ये दोनों ही ग्रह 12 अप्रैल तक स्थित रहेंगे। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार किसी भी व्यक्ति के जीवन को राहु-केतु का गोचर बहुत अधिक प्रभावित करता है। आइए जानते हैं राहु-केतु के राशि परिवर्तन का किस राशि पर क्या होगा असर –

मेष: यह गोचर मेष राशि के लोगों के लिए शुभ परिणाम लाएगा। प्रबल संभावनाएं बन रही हैं कि इस दौरान आपको सफलता मिलेगी। साहस और सकारात्मकता में इजाफा होगा। यह गोचर आपकी आर्थिक स्थिति को बेहतर करेगा। कारोबार में कामयाबी मिलेगी।

वृष: राहु इसी राशि में वक्री हो रहे हैं, इस कारण वृष राशि के जातकों को कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। खर्चीला समय होगा, ऑफिस का माहौल अनुकूल नहीं रहेगा। परिवार में क्लेश हो सकते हैं।

मिथुन: मिथुन राशि से बारहवें भाव में राहु गोचर कर रहे हैं, ऐसे में हताशा, चिंता और अनिश्चितता हो सकती है। कारोबार में नुकसान हो सकता है। केतु के कारण दिक्कतें बढ़ सकती हैं। धन हानि और बुजुर्गों की सेहत को लेकर सचेत रहें। छात्रों को अधिक मेहनत करनी पड़ेगी।

कर्क: अटका हुआ पैसा वापस मिल सकता है। केतु के राशि परिवर्तन रुकावट पैदा कर सकती हैं। सेहत के प्रति सजग रहें।

सिंह: राहु के प्रभाव से आर्थिक मामलों में फायदा होगा, जबकि केतु के गोचर के कारण धन संबंधी दिक्कतों के योग हैं। धैर्य रखें और संपत्ति को लेकर लेन-देन न करें।

कन्या: इससे राशि में राहु का गोचर नवम भाव में हो रहा है जिससे धन लाभ की संभावना है। इस दौरान किये गए कार्य जल्दी पूरे होंगे। वहीं, तीसरे भाव में केतु का गोचर हो रहा है जिससे चोट लगने का खतरा है।

तुला: राहु का वक्री होना जहां भाग्योदय के योग बना रहा है वहीं, केतु गोचर उसे प्रभावित कर रहा है। इससे कार्य समय पर पूरे नहीं होंगे और कई रुकावटों का सामना करना पड़ सकता है।

वृश्चिक: पारिवारिक जीवन को लेकर परेशान हो सकते हैं। जीवनसाथी से अनबन होने के चलते तनाव रहेगा। कई लोग आपसे दूर हो जाएंगे। वहीं, केतु का गोचर इसी राशि में होगा। इसके प्रभाव से हो सकता है कि आप अपने लक्ष्य से भटक जाएं।

धनु: इस दौरान आपको शुभ संदेश मिलेंगे क्योंकि आपकी राशि में राहु का गोचर छठे भाव में हो रहा है। इस समय आप अपने विरोधियों को मात देने में सफल रहेंगे। वहीं, केतु के प्रभाव से परिवार में विवाद और सेहत खराब हो सकती है।

मकर: मकर जातकों के पंचम भाव में राहु का गोचर हो रहा है, इससे मिले-जुले परिणाम मिलेंगे। किसी काम को शुरू करने को लेकर असमंजस की स्थिति रहेगी। केतु नये अवसर मिलने की संभावनाओं को प्रबल करेगा।

कुंभ: दाम्पत्य जीवन में कड़वाहट आएगी, लेकिन संयम रखें – जल्दी मुक्ति भी मिलेगी। यात्रा के योग हैं। इस समय निवेश न करें। सेहत प्रभावित होगी।

मीन: खुशियां मिलेंगी और जीवन में सकारत्मकता आएगी। किसी से विवाद करने से बचें। सेहत अच्छी रहेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

More on this story
Next Stories
1 22 सितंबर को होने वाला है बुध गोचर, जानें 12 राशियों पर क्या पड़ेंगे इसके प्रभाव
2 जीवन में तरक्की को प्रभावित करते हैं स्वामी ग्रह, जानिये कौन हैं आपकी राशि के स्वामी
3 गुरु गोचर के दौरान करें ये उपाय, शिक्षा-रोजगार, वैवाहिक सुख और संतान मिलने की है मान्यता
यह पढ़ा क्या?
X