ताज़ा खबर
 

आशिक मिज़ाज लोगों की खिदमत में पेश है ये शायरी…

Shayari in Hindi: हिंदी शायरी के शौकीन हैं तो इन शेरों को पढ़ने का मज़ा आपके लिए बिलकुल ही अलग होगा। अर्ज़ किया है, मुलायज़ा फर्माएं...

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतिकात्मक तौर पर। (Source: Dreamtime)

Shayari in Hindi: आप अगर हिंदी शायरी के शौकीन हैं तो इन शेरों को पढ़ने का मज़ा आपके लिए बिलकुल ही अलग तरह का होगा। वहीं आप अगर आशिक मिज़ाज हैं तो आपके लिए ये शायरी सबसे  ज्यादा मुफीद है। पढिए और मज़ा लीजिए।

न पाने की तमन्ना…

याद जब आती है तुम्हारी तो सिहर जाता हूँ मैं,
देख कर साया तुम्हारा अब तो डर जाता हूँ मैं,
अब न पाने की तमन्ना है न है खोने का डर,
जाने क्यूँ अपनी ही चाहत से मुकर जाता हूँ मैं।

उम्मीदें जुड़ी हैं तुझसे…

उम्मीदें जुड़ी हैं तुझसे टूटने मत देना,
दिल एक मोम है पिघलने मत देना,
दिल ने चाहा है उसे… आज पता चला ,
इस धड़कन को कभी बंद होने मत देना।

अपनी आज़ादी को हम…

अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं,
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं।

खुदा करे जिदगी में…

खुदा करे जिदगी मे हो मकाम आये,
तुझे भूलने कि दुआ करु पर…
दुआ मे तेरा नाम आये।

दिल तुम्हारा हो गया…

हम ने सीने से लगाया दिल न अपना बन सका,
मुस्कुरा कर तुम ने देखा दिल तुम्हारा हो गया।

तुम्हारा दिल…

तुम्हारा दिल मेरे दिल के बराबर हो नहीं सकता,
वो शीशा हो नहीं सकता ये पत्थर हो नहीं सकता।

दिल में रहते…

मेरी आँखों में मत ढूंढा करो खुद को
पता है ना.. दिल में रहते हो खुदा की तरह।

बेदिल ना समझें…

वो दिल लेकर हमें बेदिल ना समझें उनसे कह देना,
जो हैं मारे हुए नज़रों के उनकी हर नज़र दिल है।
– मीर तक़ी मीर

तेरी आँखों में…

तेरी आँखों में जब से मैंने
अपना अक्स देखा है,
मेरे चेहरे को कोई आइना
अच्छा नहीं लगता।

कतरा कतरा मैं…

कतरा-कतरा मैं बहकता हूँ
तिनका-तिनका मैं बिखरता हूँ,
रोम-रोम तू महकता है,
जर्रा-जर्रा मैं तुझमें पिघलता हूँ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App