ताज़ा खबर
 

आपके किचन में ही मौजूद हैं नैचुरल एंटी-बायोटिक्स, जानिए किन रोगों से बचाव में है कारगर

Natural Antibiotics in your Kitchen: तुलसी और करी पत्ता में एंटी ऑक्सिडेंट तत्वों की भरमार होती है। रोजाना आठ-दस पत्तियां चबाने से इम्यूनिटी मजबूत होती है। इके अलावा, अदरक और लहसुन भी इम्यूनिटी बढ़ाने में सक्षम हैं

कई तरह के संक्रमणों से दूर रखने में कारगर हैं ये प्राकृतिक एंटी-बायोटिक, जानिए किचन के कौन से पदार्थों में होते हैं मौजूद

Natural Antibiotics in your Kitchen: दुनिया भर में आज जिस तरह का माहौल है, उसमें हर कोई अपने और अपने परिवार के स्वास्थ्य की चिंता लिए बैठा है। हर व्यक्ति सेहतमंद रहने के तमाम उपायों को इस्तेमाल करने में जुटा हुआ है। कोरोना वायरस जैसे वैश्विक महामारी को मात देने के लिए दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में लॉकडाउन घोषित किया जा चुका है, ताकि लोग अपने घरों में सुरक्षित रह सकें। अपने आसपास सफाई मेंटेन करके और चिकित्सा संबंधी सभी दिशा-निर्देशों का पालन करके लोग सेफ रह सकते हैं। इसके साथ ही इम्यूनिटी का मजबूत रहना भी आवश्यक है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक किसी भी प्रकार के इंफेक्शन से बचाने में एंटी-बायोटिक दवाइयां भी कारगर होती हैं, लेकिन ज्यादा दवाई खाना भी सेहत पर बुरा प्रभाव डालता है। ऐसे में इन दवाइयों के कई प्राकृतिक विकल्प भी होते हैं, आइए जानते हैं-

शहद: शहद एंटी-बैक्टीरियल फूड के सबसे बेहतर स्रोतों में से एक है। शहद में मुख्य तत्व पेरोक्साइड होता है, जिसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। अगर इसे घाव पर लगाया जाए तो घाव जल्दी भरते हैं और दर्द में भी आराम मिलता है। साथ ही साथ, सर्दी-जुखाम में भी शहद का सेवन फायदेमंद होता है।

दालचीनी: दालचीनी को यीस्ट संक्रमण से लड़ने के लिए सबसे अच्छा खाद्य पदार्थ माना जाता है। दालचीनी के सेवन का सबसे अच्छा तरीका है कि आप दालचीनी की कुछ स्टिक को अपने चाय में डालें और नियमित रूप से इसका सेवन करें। इसके अलावा आप दालचीनी पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। दालचीनी को अपनी डाइट में शामिल करने से आप कई बैक्टीरिया के बुरे प्रभाव से बच सकते हैं

अजवाइन: अजवाइन में एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। आप अपने सलाद और सूप पर अजवनाइन छिड़क कर गार्निश कर सकते हैं। साथ ही साथ, अपने रोजाना के भोजन को बनाने में अजवाइन के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके सेवन से भी आप कई प्रकार के संक्रमण और वायरस से दूर रह सकते हैं।

लौंग: लौंग को अक्सर लोग दांत से जुड़ी समस्याओं के इलाज के लिए उपयोग करते हैं। यह ई. कोली (E. coli) और एस. ऑरियस (S. aureus) जैसे बैक्टीरिया से लड़ने के लिए भी जाना जाता है। इसलिए इसे एक प्राकृतिक एंटी-बायोटिक माना जाता है। इसके अलावा, इम्यूनिटी बढ़ाने और उसे मजबूत बनाने के लिए विटामिन C युक्त भोजन करने की भी सलाह दी जाती है। आप संतरे और अनानास जैसे फलों को अपने डाइट में जरूर शामिल करें।

Next Stories
1 Coronavirus: PM ने आखिर 21 दिन का ही क्यों घोषित किया लॉक डाउन, एक्सपर्ट्स ने समझाया पूरा माज़रा
2 Health Horoscope Today, 25 March 2020: सिंह राशि वाले की स्वास्थ्य उनके लिए काफी अनुकूल रहेगी, वहीं कर्क राशि वाले घुटनों के दर्द से परेशान रह सकते हैं
3 Coronavirus: इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए खाएं ये लड्डू, जानें क्या है बनाने का तरीका
ये पढ़ा क्या?
X