ताज़ा खबर
 

World Hepatitis Day 2020: लिवर के लिए घातक है हेपेटाइटिस, जानिये क्या हैं इसके लक्षण और बचाव के उपाय

Hepatitis Symptoms: अगर आपके नाखून, स्किन या आंखें पीली पड़ रही हैं, तो डॉक्टर्स से परामर्श लेना चाहिए

इस बीमारी के प्रति जागरुकता फैलाने हेतु हर साल 28 जुलाई को वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे मनाया जाता है

लिवर शरीर के महत्वपूर्ण अंगों  में से एक है जो शरीर में मौजूद टॉक्सिक मेटीरियल्स को बाहर निकालने का काम करती है। वैसे तो जो लोग शराब का अधिक सेवन करते हैं, लिवर से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ता है। लेकिन कई लोगों को फैटी लिवर व हेपेटाइटिस की बीमारी के कारण भी लिवर संबंधित रोगों से पीड़ित होने की संभावना होती है। हेपेटाइटिस एक घातक व गंभीर बीमारी है जो लिवर में सूजन व संक्रमण के कारण होती है।

इस बीमारी के वायरस कुल 5 प्रकार के होते हैं जिससे हेपेटाइटिस ए, बी, सी, डी और ई जैसी बीमारी होती है। इस बीमारी से पीड़ित मरीजों के लिवर में सूजन व जलन की समस्या आती है जो गंभीर स्थिति में लिवर के कैंसर का कारण भी बन सकती है। इस बीमारी के प्रति जागरुकता फैलाने हेतु हर साल 28 जुलाई को वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे मनाया जाता है, इस मौके पर आइए जानते हैं इस बीमारी के बारे में-

क्या होता है हेपेटाइटिस: हेपेटाइटिस बीमारी किसी वायरस या बैक्टीरिया के इंफेक्शन, ज्यादा दवा खाने या फिर अल्कोहल के अत्यधिक सेवन से लोगों को अपनी चपेट में ले लेती है। इस बीमारी के ज्यादातर मामले गर्मी व मॉनसून के दिनों में बढ़ जाते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इस मौसम में जीवाणु ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं। बता दें कि ये बीमारी के कारण लिवर सेल्स धीरे-धीरे डैमेज होने लगते हैं। हेपेटाइटिस बी का वायरस शरीर में मौजूद तरल पदार्थ जैसे कि ब्लड के जरिये पूरे शरीर में पहुंचता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक ताजा आंकलन के अनुसार भारत में अभी हेपेटाइटिस बी से पीड़ित लोगों की संख्या 4 करोड़ के आसपास है।

जान लीजिए लक्षण: हेपेटाइटिस बीमारी से पीड़ित लोगों को पीलिया होने का खतरा अधिक रहता है। ऐसे में अगर आपके नाखून, स्किन या आंखें पीली पड़ रही हैं, तो डॉक्टर्स से परामर्श लेना चाहिए। इसके अलावा, यूरिन का कलर डार्क येलो या फिर ग्रीन होना भी हेपेटाइटिस का संकेत है। ज्यादा थकान होना, जांघों व घुटने में दर्द और खुजली भी इस बीमारी के लक्षण हो सकते हैं। पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द और सूजन, भूख न लगने और उल्टी की शिकायत भी हेपेटाइटिस के मरीजों को हो सकती है।

ऐसे करें बचाव: हेपेटाइटिस से बचाव हेतु मसालेदार और तली-भुनी चीजों को खाने से परहेज करना चाहिए। साथ ही, मांसाहारी खानों से भी दूरी बना लेनी चाहिए। इस बीमारी के लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। बच्चों को समय से हेपेटाइटिस का टीका लगवाएं। डाइट में पालक, आलू, केला, अंगूर, इलायची और खजूर जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट्स को शामिल करें।

Next Stories
1 सुबह नहीं करते हैं नाश्ता तो बढ़ सकता है ब्लड शुगर, इन कारणों से भी रहता है Diabetes का खतरा
2 High BP की समस्या से परेशान हैं तो डाइट में शामिल करें सीताफल, कंट्रोल करने में मिलेगी मदद
3 High Uric Acid को कंट्रोल करने में मददगार है ब्लैक कॉफी, जानिये कितना पीने से होगा फायदा
ये पढ़ा क्या?
X