ताज़ा खबर
 

क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? ICMR के DG ने कहा- इसका कोई सबूत नहीं

Coronavirus Impact: डॉ. भार्गव के अनुसार भारत में स्टेज तीन यानी कम्यूनिटी ट्रांसमिशन नहीं शुरू हुआ है। यही कारण है कि तेजी से बढ़ने के बाद भारत में कोरोना से ग्रसित मरीजों की संख्या कम है

गर्मी में कोरोना वायरस का असर कम होगा या नहीं, बता रहे हैं ICMR के एक्सपर्ट्स

Coronavirus Impact: दुनिया भर में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। भारत में 2 समेत कुल 7 हजार लोगों की मौत इस वायरस के वजह से हो चुकी है। हालांकि, इस वायरस से जुड़ी कई बातें सामने आ रही हैं। लोग सोशल मीडिया पर भी कोरोना वायरस से संबंधित जानकारियां साझा कर रहे हैं। लेकिन कई बातें ऐसी हैं जिन्हें बिना किसी प्रमाण के शेयर की जा रही हैं। इन्हीं में से एक है कि गर्मी आते ही कोरोना वायरस का असर कम हो जाएगा। पर अब तक इस बात का अब तक कोई भी साइंटिफिक प्रूफ नहीं मिल पाया है।

नहीं मिले हैं वैज्ञानिक प्रमाण: ‘दी इंडियन एक्सप्रेस’ में छपी खबर के मुताबिक ICMR के डाइरेक्टर जनरल प्रोफेसर डॉ. बलराम भार्गव ने बताया कि मौसम बदलने या तापमान के बढ़ने से कोरोना वायरस का प्रभाव कम होगा या नहीं इस बारे में अभी साफ तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता है क्योंकि इसे लेकर कोई भी डाटा या सबूत अब तक प्राप्त नहीं हुआ है। इसके अलावा,  उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग के महत्व पर जोर देते हुए कहा कि इस वायरस से बचाव के भीड़-भाड़ से बचने की सलाह दी है।

सरकार ने दिए परीक्षण दिशा निर्देश: देश में अब तक 125 लोग इस वायरस से पीड़ित हैं। भारत सरकार बढ़ते कोरोना के कहर के देखते हुए इसके संक्रमण को रोकने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने भारत में कोरोना से लड़ने के लिए परीक्षण दिशानिर्देश दिए हैं। इसमें यह भी कहा गया है कि वर्तमान में कोविड-19 का कोई कम्यूनिटी ब्रॉडकास्ट नहीं हुआ है।

सामाजिक भेद पर्याप्त नहीं: डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेब्रेयस के अनुसार केवल सोशल डिस्टेंसिंग से इस घातक वायरस को रोकना मुश्किल है। कोरोना वायरस के प्रभाव को कम करने के लिए व्यापक दृष्टिकोण (Comprehensive Approach) की आवश्यकता है। अपने हाल के ट्वीट में उन्होंने एचआईवी से संक्रमित और कुपोषित बच्चों से भरे देशों में कोरोना वायरस के स्प्रेड को लेकर चिंता जताई। वो आगे लिखते हैं कि बच्चों, बूढ़ों और गर्भवती महिलाओं का ख्याल किस तरह रखा जाए इसको लेकर क्लिनिकल गाइडेंस डब्लूएचओ ने जारी किया है।

Next Stories
1 Coronavirus: चिकन खाने से कोरोना वायरस फैलने का कितना खतरा? पढ़े- विशेषज्ञों ने क्या बताया
2 Health Horoscope Today, 17 March 2020: कन्या राशि वालों को पुरानी बीमारी से छुटकारा मिल सकता है, जानिए बाकी राशियों की स्वास्थ्य कैसी रहेगी
3 डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है मखाना, ऐसे करें इस्तेमाल
ये पढ़ा क्या?
X