scorecardresearch

कोरोना पर WHO का बड़ा बयान, कहा- सबसे बुरा दौर अभी बाकी; सही नीतियों का पालन नहीं किया तो और लोग होंगे संक्रमित

WHO के चीफ ट्रेडोस ने कहा है कि इस वायरस का सबसे बुरा दौर अभी बाकी है। ऐसे में अगर सही नियमों का पालन नहीं किया जाएगा तो यह वायरस लोगों को और तेजी से संक्रमित कर सकता है।

कोरोना पर WHO का बड़ा बयान, कहा- सबसे बुरा दौर अभी बाकी; सही नीतियों का पालन नहीं किया तो और लोग होंगे संक्रमित
कोरोना पर WHO का बड़ा बयान-

कोरोना वायरस का संक्रमण बहुत तेजी से पैर पसारता दिख रहा है। दिन प्रति दिन कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसी बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) इस वायरस को लेकर चेतावनी दी है। WHO के चीफ ट्रेडोस ने कहा है कि इस वायरस का सबसे बुरा दौर अभी बाकी है। ऐसे में अगर सही नियमों का पालन नहीं किया जाएगा तो यह वायरस लोगों को और तेजी से संक्रमित कर सकता है। ट्रेडोस ने यह भी कहा कि इस महामारी को हराने के लिए हमें एक-जुट होकर नियमों का पालन करने की आवश्यकता है।

इसके अलावा उन्होंने इस वायरस के बारे में बताते हुए कहा कि 6 महीने पहले किसी को इस बात का अंदाजा भी नहीं था कि कोरोना के कारण दुनिया बदल जाएगी, लोगों को अपने घरों में बंद रहना पड़ जाएगा या फिर सारी चीजें बंद हो जाएंगी। डब्ल्यूएचओ के हेल्थ इमरजेंसी प्रोग्राम के कार्यकारी निदेशक माइकल रेयान ने इस वायरस के बारे में बताते हुए कहा कि इस माहामारी से लड़ने के लिए किसी भी तरह के भेदभाव से बचना चाहिए। सभी को मिलकर इससे निपटने का राश्ता निकालना चाहिए।

ट्रेडोस ने कहा है कि भले ही कुछ देशों में इस वायरस की रफ्तार कम हुई हो, लेकिन वैश्विक स्तर पर इसका असर और बढ़ गया है। रिपोर्ट्स के अनुसार, दुनिया में हर रोज कोरोना वायरस के 80 हजार से एक लाख के करीब केस आते थे, लेकिन पिछले कुछ दिनों से रोजाना डेढ़ लाख से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। अमेरिका, ब्राजील और भारत ऐसे देश हैं, जहां कोरोना वायरस के सबसे अधिक केस आ रहे हैं। अमेरिका और ब्राजील में रोजाना करीबन 30 हजार कोरोना के केस सामने आ रहे हैं, वहीं भारत में हर दिन 20 बजार के लगभग केस आ रहे हैं।

अमेरिकी यूनिवर्सिटी जॉन हॉपकिन्स के अनुसार, अभी दुनिया में कोरोना वायरस के कुल मरीजों की संख्या 1 करोड़ 2 लाख के करीब है, जबकि 5 लाख लोगों की जान जा चुकी है। इस वायरस से निपटने के लिए दुनियाभर के वैज्ञानिक वैक्सीन की तसाश में लगे हुए हैं। इसके अलावा डॉक्टर्स और विशेषज्ञ की वायरस से बचाव के लिए कई उपाय भी बता रहे हैं। इतना ही नहीं कई आयुर्वेदिक उपचार भी बताए जा रहे हैं जिससे इस वायरस के संक्रमण से बचा जा सके।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 01-07-2020 at 11:08:59 am
अपडेट