scorecardresearch

Heart Attack During Exercise: एक्सरसाइज के दौरान क्यों होता है हार्ट अटैक और किन्हें ज्यादा खतरा है? जानिये

अगर आप पहले से दिल के मरीज हैं, फैमिली हिस्ट्री है, कोलेस्ट्रॉल, बीपी,डायबिटीज और मोटापा का शिकार है तो आपको इस बीमारी का खतरा हो सकता है।

Heart Attack During Exercise: एक्सरसाइज के दौरान क्यों होता है हार्ट अटैक और किन्हें ज्यादा खतरा है? जानिये
दिल का दौरा तब पड़ता है जब हृदय की मांसपेशियों को रक्त की आपूर्ति करने वाली कोरोनरी धमनियों में अचानक रुकावट आ जाती है।(Image: Freepik)

कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को 10 अगस्त को जिम में वर्कआउट करने के दौरान दिल का दौरा पड़ा था। पिछले कुछ वर्षों में ज्यादा वर्कआउट की वजह से हार्ट फेल होने से मृत्यु के मामले सामने आए हैं। बॉलीवुड सिंगर केके, पुनीत राजकुमार, सिद्धार्थ शुक्ला, सुरेखा सीकरी और प्रवीण कुमार सोबती ऐसी मश्हूर हस्तियां थीं जिनकी मौत दिल का दौरा पड़ने की वजह से हुई थी।

माना जाता है कि उम्र, तंबाकू का सेवन, हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल, मोटापा, डायबिटीज, एक्सरसाइज की कमी या ज्यादा एक्सरसाइज, अनहेल्दी डाइट, तनाव और शराब का सेवन इसका जोखिम को बढ़ा सकता हैं। अब सवाल ये उठता है कि क्या ज्यादा एक्सरसाइज करने से दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है? दिल का दौरा पड़ने का कारण क्या है? युवा ही इस परेशानी की चपेट में क्यों आ रहे हैं। आइए जानते हैं एक्सरसाइज के दौरान क्यों होता है हार्ट अटैक और किन्हें इसका ज्यादा खतरा है?

दिल का दौरा क्यों पड़ता है:

दिल का दौरा तब पड़ता है जब हृदय की मांसपेशियों को रक्त की आपूर्ति करने वाली कोरोनरी धमनियों में अचानक रुकावट आ जाती है। कोरोनरी धमनी में रुकावट होने से सीने में दर्द पैदा होता है और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

एक्सरसाइज के दौरान दिल का दौरा क्यों पड़ता है:

हृदय रोग विशेषज्ञ, महामारी विशेषज्ञ, और पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया (PHFI) के अध्यक्ष के मुताबिक वर्कआउट के दौरान दिल की इस बीमारी के लक्षण पहले से बॉडी में नहीं दिखते। एक्सरसाइज के दौरान बॉडी में ऑक्सीजन की मांग बढ़ जाती है और उपलब्ध रक्त आपूर्ति पर्याप्त नहीं रहती इसलिए भी वर्कआउट के दौरान दिल के दौरे का खतरा बढ़ जाता है। दिल का दौरा तब भी हो सकता है जब कोरोनरी धमनियों में बनने वाली नरम पट्टिकाएं फट जाती हैं और एक बड़ा थक्का बन जाता है।

रेजोनेंस लैबोरेट्रीज के प्रबंध निदेशक डॉ तुषार गोर के अनुसार यह गलत धारण है कि धमनी की दीवार पर कोशिकाओं के जमा होने की वजह से दिल का दौरा पड़ता है। ऐस कुछ नहीं है। ये रुकावट कोशिकाओं और कोलेस्ट्रॉल कणों का परिणाम है जो एंडोथेलियल कोशिकाओं की बाधा से टूटते हैं और धमनी की परत में घुस जाते हैं। नतीजतन, धमनी की दीवार में एक फुंसी की तरह गांठ होती है। इसे प्लाक या स्टेनोसिस के रूप में जाना जाता है। कोरोनरी धमनी के अंदर इस तरह के अवरोधों के टूटने और विघटन से रक्त के थक्के बनने की क्रिया शुरू हो जाती है, जो पट्टिका के विघटन से चोट की ‘मरम्मत’ करती है।

एक्सरसाइज के दौरान दिल के दौरे से मौत होने का क्या कारण है?

ज़ोरदार शारीरिक गतिविधि के दौरान अचानक कार्डियक डेथ उन मामलों में अधिक होती है जब जोरदार एक्सरसाइज से प्लाक टूट जाता है या हृदय में इलेक्ट्रिकल डिस्टर्बेंस होती है, जिससे कार्डियक अरेस्ट हो सकता है। आमतौर पर किसी फिजिकल एक्टिविटी के दौरान हार्ट अटैक या कार्डियक अरेस्ट उन लोगों को होता है, जिन्हें पहले से ही दिल से जुड़ी कोई बीमारी हो। जिम में जानलेवा हार्ट अटैक के दूसरी वजह हार्ट में अचानक ब्लड क्लॉट का बनना है, जिससे ब्लड फ्लो प्रभावित होता है।

किन लोगों को एक्सरसाइज के दौरान हार्ट अटैक का खतरा होता है:

अगर आप पहले से दिल के मरीज हैं, इस परेशानी की फैमिली हिस्ट्री है, कोलेस्ट्रॉल, बीपी,डायबिटीज और मोटापा का शिकार है तो आपको इस बीमारी का खतरा हो सकता है।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.