ताज़ा खबर
 

हार्ट ब्लॉकेज हो तो ये फूड आइटम अपनी डाइट में करें शामिल, साफ हो जाएंगी धमनियां

हार्ट ब्लॉकेज के कारण आ सकता है हार्ट अटैक, बचने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय और फायदेमंद होगा इन्हें अपनी डाइट चार्ट में शामिल करना।

प्रतीकात्मक चित्र

दिल की सेहत पूरे शरीर के स्वास्थ्य के लिए जरूरी होती है। दिल ही पूरे शरीर में ब्लड सप्लाई करता है। दिल का अगर ध्यान ना रखा जाए तो कई बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। दिल का अगर ध्यान नही रखा जाए तो हार्ट स्ट्रोक, ब्लड प्रेशर, डायबटिज जैसी समस्याएं हो सकती हैं। दिल की नसों में बलॉकेज हो जाने के कारण स्टंट डालकर डॉक्टर इनका इलाज करते हैं। एक बार ऑपरेशन होने के बाद दिल का ध्यान रखना और जरूरी हो जाता है। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि हॉर्ट बलॉकेज होने पर इन चीजों का सेवन करने से अपने दिल को हेल्दी रख सकते हैं।

हल्दी- आपने कई बार सुना होगा कि हल्दी कई रोगों का इलाज होती है। आपके दिल की नसों यानि आर्टरीज को भी स्वस्थ रखती है। ये दिल के सभी रोगों को कम करने में आपकी मदद करती है।

संतरा- ये विटामिन सी का सबसे अच्छा स्रोत है। ये मामूली जुकाम से लेकर दिल की बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। संतरे में फाइबर अधिक होता है जो कैलोस्ट्राल को कम करता है।

अनार- जिन फलों में एंटीऑक्सीडेंट्स की मात्रा अधिक होती है वो आर्टरीज कि दीवारों को मजबूत करते हैं। अनार दिल के लिए काफी सेहतमंद होता है। ये खून का प्रवाह को बढ़ाता है।

ब्रोकली- सब्जियों में ब्रोकली में सबसे ज्यादा प्रोटीन्स होते हैं। इसमें विटामिन के की मात्रा अधिक होती है जो हड्डियों के बनने में मदद करती है। विटामिन के आर्टरीज के डैमेज को रोकने में मददगार होता है।

नट्स- बादाम, अखरोट, काजू आदि दिल के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। इन सभी नट्स में विटामिन इ होता है. नट्स में फाइबर कि मात्रा अधिक होती है जिससे ब्लड में कोलेस्ट्राल कम होता है।

ऑलिव ऑइल- इसके अनेको फायदे होते हैं, ये कोलेस्ट्राल की मात्रा को कम करने में मदद करता है। ये कोलेस्ट्रोल कम करने के साथ ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करने में मदद करता है।

कॉफी- वैसे तो कॉफी पीने के कई नकारात्मक प्रभाव होते हैं, पर अगर एक लिमिट में इसका सेवन किया जाए तो ये सेहत के लिए फायदेमंद होती है। 4 कप से ज्यादा सेवन करना हानिकारक हो सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App