ताज़ा खबर
 

खाने के 2 घंटे बाद कितनी होनी चाहिए शुगर की मात्रा? इन सब्जियों को खाने से नहीं बढ़ेगा शुगर लेवल

Vegetables to eat in diabetes: भिंडी में स्टार्च न के बराबर होता है, ऐसे में मधुमेह रोगियों के लिए इसका सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है

डायबिटीज एक क्रॉनिक डिजीज है जिसमें ब्लड शुगर का स्तर संतुलित रहना बेहद आवश्यक होता है

Best Food To Eat In Diabetes: डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो ब्लड शुगर बढ़ने के साथ बढ़ती है। खराब जीवन शैली, हार्मोनल असंतुलन, मोटापा और अस्वस्थ खानपान डायबिटीज की प्रमुख वजहें हैं। एक उम्र के बाद डॉक्टर्स सलाह देते हैं कि स्वस्थ लोगों को हर 3 महीने में अपना ब्लड शुगर टेस्ट कराना चाहिए। वहीं, हाई ब्लड शुगर पेशेंट्स यानी डायबिटीज के मरीजों को हर महीने व गंभीर मामलों में हर सप्ताह रक्त शर्करा का स्तर जांचना चाहिए।

ये बीमारी शरीर को सुस्त बनाती है और अंदर से तोड़ने का काम करती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ का मानना है कि भोजन के बाद ब्लड शुगर के स्तर को काबू में रखना आसान नहीं होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि खाने में मौजूद ग्लूकोज जब टूटता है तो इससे बॉडी सेल्स में शर्करा की मात्रा अधिक हो जाती है।

ब्लड शुगर का नॉर्मल स्तर जानना बेहद जरूरी है, हेल्थ एक्सपर्ट्स मानते हैं कि खाली पेट जहां हेल्दी लोगों का ब्लड शुगर 100 से 120 होना चाहिए। वहीं, खाने के 2 घंटे बाद स्वस्थ लोगों का ब्लड शुगर तकरीबन 130 से 160 के बीच में रहना चाहिए। इस जांच को अंग्रेज़ी में पोस्ट प्रैन्डियल ब्लड शुगर टेस्ट कहते हैं।

डायबिटीज एक क्रॉनिक डिजीज है जिसमें ब्लड शुगर का स्तर संतुलित रहना बेहद आवश्यक होता है। अगर इसका स्तर सीमा में नहीं है तो मरीजों को अपने खानपान व जीवन शैली में बदलाव लाने की जरूरत होती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ लोगों को उन फूड्स को खाने की सलाह देते हैं जिनसे उनकी बॉडी में शुगर लेवल हाई न हो। ऐसे में कुछ सब्जियों का सेवन डायबिटीज मरीजों के लिए फायदेमंद साबित होता है।

शरीर में ब्लड शुगर बढ़ने से लिवर, किडनी, दिल और दिमाग संबंधी कई जटिलताओं का सामना करना पड़ता है। ऐसे में इस बीमारी पर काबू पाना बेहद जरूरी है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि कुछ सब्जियों के सेवन से ब्लड शुगर के स्तर पर लगाम लगाना आसान साबित हो सकता है।

भिंडी में स्टार्च न के बराबर होता है, ऐसे में मधुमेह रोगियों के लिए इसका सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। इस हरी सब्जी में घुलनशील फाइबर पाया जाता है जो शुगर को पचाने में मददगार है। साथ ही, इसमें भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो बीमारियों के खतरे को कम करते हैं। इसके अलावा, गाजर, पत्ता गोभी, खीरा, ब्रोकली, बीन्स जैसी सब्जियां मधुमेह रोग का खतरा कम करते हैं।

Next Stories
1 इम्युनिटी बढ़ाने से लेकर वजन घटाने में मददगार है काला चना, जानें कितना और कैसे खाने से होगा लाभ
2 दांतों के पीलेपन को दूर करने में असरदार माने गए हैं ये 5 घरेलू नुस्खे, आज ही करें ट्राय
3 Uric Acid बढ़ने से बढ़ जाता है जोड़ों में दर्द, इन घरेलू उपायों से मिलेगा आराम
यह पढ़ा क्या?
X